स्वत्छ भारत अभियान पर निबंध हिंदी में – पढ़े यहाँ Swatch Bharat Abhiyan Essay In Hindi

परिचय :

स्वच्छ भारत अभिया यह एक सफाई का अभिया है ! और यह ४,०४१ शहर ,गाओ  साफ रखता है जिसके अंतर्गत गालिया ,सड़के  तथा  अन्य  औद्योगिक  छेत्र  अत है। स्वत्च भारत अभियान  का वो अभियान है जो भारत सर्कार के द्वारा चलाया जारहा है , और स्पष्ट रूप से माननीय श्री प्राधार मंत्री नरेंद्र मोदी. यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण मुददा तथा अभियान है,

जो हमारे बच्चो को और विद्यार्थियों को जानना बहुत हि जरुरी ह!स्वाच भारत अभियान यह इसे हम क्लीन इंडीया मिशिओं के तथा इंडिया ड्राइव  या स्वाच भारत कैंपेन  के नाम से भी जाना जाता है !

यह अभियान संपूर्ण रूप से माननी प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्वा में लागु किया गया था महात्मा गाँधी के १५० वे जन्मदिन  २ अक्टूबर  राजगढ़ नई दिल्ली में।

स्वत्छ भारत अभियान के लिए ठोस कदम उठाने के लिए महत्वपूर्ण व्यक्ति 

सर्वप्रथम ९ लोग है जिन्होंने खास भूमिका निभाई थी सलमान खान , अनिल अम्बानी ,कमल हस्सान ,हास्यकलाकर कपिल शर्मा , प्रियंका चोपड़ा , बाबा रामदेव , सचिन तेंदुलकर , सचिन थरूर  और  सचिन टीम जो तारक मेहता का उल्टा चस्मा  (जो की एक मशहूर टीवीकलाकार ) है  भारतीय अभिनेता  आमिर खान  जो की न्योते गए थे इस मिशन के लागु दिवस पर यहाँ पर कैयी उद्योगपति ने सरहहता इस योजना को !

संबंधित लेख:  'नर हो न निराश करो मन को' पर निबंध - पढ़े यहाँ Essay in Hindi Nar Ho Na Nirash Karo Man Ko

हमारे राष्ट्र पिता महात्मा गाँधी का हमेशा से यही सपना रहा है की भारत को एक स्वत्छ देश बनाऊ अर्थात उन्होने ने अपना  पूरा प्रयास किये ! यही कारन है की स्वत्छ  भारत अभियान को २ अक्टूबर (महात्मा गन्दी के जन्म दिन पर लागु किया गया)  हमारे राष्ट्री प[ईटा का उद्देश्य पूर्ण करने के लिए भारत सरकार ने  इस  योजना  / उद्देश्य को मार्च २०१७,  लागु करने का निर्णय किया ! अर्थात उत्तर प्रदेश के

धुम्रपान पर रोकथाम 

मुख्य मंत्री आदित्यनाथ योगी जी ने पान खाना ,और गुटखा पर सर्वे प्रथम रोक लगया यहाँ तक की सरकारी दफतरो में भी इसे रोका।   स्वत्छ अभियान के लिए समर्थन करता स्वछः  भारत अभियान यह  अभियान को सर्वप्रथम भारत के महापुरुष उत्तर प्रदेश के माननीय मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ का समर्थंन मिला !

जिसके द्वारा उन्होंने सबसे पहले पान खाना ,गुटखा  और अन्य तम्बाकू से सम्बंधित पदार्थो पर सरकारी दफतरो में अर्थात राज्य में लगभग मार्च २०१७ से  रोख  लगया !  

स्वत्छ भारत अभियान के लाभ 

इस उद्देश्य के पूर्ण होते ही लोगो/उद्योगपति  का का इस पर ध्यान केन्द्रीयत होने लगा ,इससे लोगो में बीमारी और गंदगी काम होने लगी, स्वत्छ भारत के तहत 0. ५ % कर चुकना होता है।

हर १०० रुपये पर ०.५ % (५० पैसे ) सभी सर्विस के तहा तक की उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री आदित्यनाथ योगी जी ने तो इसे २०१७ में ही लागु किया वो सरकारी दफतराओ में अर्थात इमारतों ,गलियों ,सड़को पे इत्यादि। 

संबंधित लेख:  सूरदास पर निबंध - पढ़े यहाँ Surdas Essay In Hindi

स्वत्छ भारत अभियान का महत्वपूर्ण मकसत है की।, जनता में एक सार्वजनिक बदलाव आये और उद्देश्य यह है की लोगो का स्वस्थ बी उत्तम बना रहे।  सफाई से जागरूकता यह आती है कि,  दृढ़ता से लोग इसे अपनाये।  और देखा जाये तो सबसे ज्यादा गन्दगी  पान ,गुटखा ,तथा तम्बाकू के पदार्थो द्वारा ही होता है।

निष्कर्ष :

अतः इसका निष्कर्ष या निकलता है की यदि सफाई नहीं रहेगी तो जीवन नहीं रहेगा ,कारन यह है की, गन्दगी से वातावरण प्रदूषित होता है और वातावरण ही जब ठीक नहीं रहे गागा तो जीवन  कैसे ठीक रहेगा ? इसलिए एक कदम स्वछता की ओर !

Updated: February 21, 2019 — 12:54 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.