स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध – पढ़े यहाँ Swachh Bharat Abhiyan Essay In Hindi

प्रस्तावना :

स्वच्छ भारत अभियान यह एक ऐसा अभियान है जो की सीधे भारत के प्रधान मंत्री माननीय नरेन्द्र मोदी द्वारा चलाया गया है | जिससे सम्पूर्ण भारत में सफाई के प्रति जागरूकता पहुँच सकें |

स्वच्छता के प्रति कोई ठोस कदम उठाया जाये यह प्रधान मंत्री को तब सुझा जब उन्होंने विदेश के दौरे पर जाकर यह अध्यन किया, की लोगों में केवल और केवल सफाई के कमी के कारण भारत में रोग तथा बिमारिय का प्रसारण तीव्रता से हो रहा हैं | अतः भारत के प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी जी को यह अभियान की शुरुआत आवश्यक हो गया |

स्वच्छता अभियान की शुरुआत 

भारत में स्वच्छ भारत अभियान एक अधिकारिक रूप से नई दिल्ली में राजघाट पर २-अक्तूबर-२०१४ को महात्मा गाँधी जी के १४५ वें जयंती पर भारत देश के प्रधान मंत्री ने इस अभियान की शुरुआत कीं |

इस अभियान को न जाने कई नामो से भी जाना जाता है, जैसे स्वच्छ भारत अभियान, स्वच्छ्ता अभियान तथा स्वच्छ्ता मिशन |

स्वच्छ्ता अभियान को प्रारंभ करने का मुख्य उद्देश्य 

स्वच्छ भारत अभियान को प्रारंभ करने का मुख्य उद्देश्य यह है की, लोगो में स्वच्छ्ता के प्रति जारूकता फैले, लोग दवाइयों का सेवन आवश्यकता हो तभी करे और सफाई आस पास रहेगी तब समझो की रोग भी नहीं फैलेगी |

संबंधित लेख:  माँ पर निबंध - पढ़े यहाँ Essay About Mother in Hindi

यह अभियान अपने आप में एक राष्ट्रिय स्तर की लड़ाई है जो की यह एक संकल्प है, की भारत में २०१९ तक महात्मा गाँधी के १५० वें जयंती पर सम्पूर्ण भारत को एक आदर्श देश बनाना यह इस अभियान का मुख्य उद्देश्य रहा हैं |

स्वच्छता अभियान को प्रारंभ करने की आवश्यकता 

स्वच्छ्ता को लेकर भारत में कोई भी रूचि नहीं थी| जिससे की सफाई का क्या महत्व होता है, यह कोई भी नहीं जानता | अतः जब प्रधान मंत्री ने यह देखा की सफाई के कारण हमारे भारत देश के आर्थिक व्यवस्था में भी सुधार आ सकता है, तब उन्होंने इसकी आवश्यकता जताते हुए इस अभियान की शुरुआत की |

भारत सरकार ने इस अभियान को लागू करते ही यह घोषणा किया कीं जब से भारत के सभी लोग सफाई के लिए केवल जागरूक नहीं होंगे तब से मानो की सफाई के सम्बन्ध में जो अभियान चलाया जायेगा वो सभी व्यर्थ हो जायेगा |

सरकार ने इससे सम्बंधित भी कुछ अभियान किये थे जैसे की सावधानी कार्यक्रम, निर्मल अभियान तथा कुल स्वच्छ्ता अभियान आदि |

निष्कर्ष :

हमारे भारत में पुराणों में भी इस कथन का उल्लेख किया गया है, की जहाँ सफाई होगी वहा लक्ष्मी का वास होगा और जहाँ गंदगी होगी वही विनाश तथा कलह भी होगा अतः हमें सफाई का महत्व समझना होगा और यही इस अभियान का मुख्य उदेश्य रहा है |

संबंधित लेख:  माझी आई मराठी निबंध - वाचा येथे Majhi Aai Marathi Essay

भारत में सभी नागरिको का ५०% की आय केवल औषधियों में ही बर्बाद हो जाता है जिसके कारण लोगों में आक्रोश भी पनपता है और आय दिन किसी अपने की मृत्यु हो जाती है और शोक मनाते है, अरे यदि दूषित वातावरण को नहीं त्यागेंगे तो हम इससे हमेश से ही जूझते रहेंगे और यह एक समस्या बन चुकी होगी |

Updated: March 7, 2019 — 1:31 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.