राष्ट्र निर्माण में विद्यार्थियों का योगदान पर निबंध – पढ़े यहाँ Rashtra Nirman Mein Vidyarthi Ki Bhumika In Hindi Essay

प्रस्तावना:

हर किसी के जीवन में विद्यार्थी जीवन यह सबसे महत्वपूर्ण होता हैं | उस समय में हम सभी को मिले हुए संस्कार, सीखी हुई कलाएं यह सभी हमारा भविष्य निर्धारित करती हैं | इसलिए हर एक व्यक्ति को अपने विद्यार्थी जीवन में अपने कर्तव्यों को समझना चाहिए |

हर एक व्यक्ति को शिक्षा यह समाज और देश के विकास के लिए उपयोग करना जरुरी हैं | विद्यार्थी जीवन यह अच्छा और सभ्यता का जीवन होता हैं |

उचित शिक्षा

विद्यार्थी जीवन में हर एक व्यक्ति का सबसे पहला कर्तव्य होता हैं, वो अपनी उचित शिक्षा पूर्ण रूप से पूरी करे | शिक्षा ही व्यक्ति को योग्य बनाती हैं और एक नए जीवन को आकार देती हैं |

जो व्यक्ति शिक्षा प्रदान करता हैं, उस व्यक्ति को सामर्थ्यवान बनाती हैं और उसका जीवन सफल हो जाता हैं | शिक्षा मनुष्य को हर एक कर्तव्य का ज्ञान दिलाती हैं |

जो मनुष्य उचित शिक्षा प्राप्त करेगा वो अपने परिवार, समाज और देश की सेवा करेगा | इसलिए राष्ट्र निर्माण के लिए शिक्षा यह सबसे प्रथम कर्तव्य हैं |

अच्छा स्वास्थ्य

विद्यार्थी जीवन में मनुष्य का दूसरा कर्तव्य हैं की, अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखना | ऐसा कहा जाता हैं की, जब स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मन का निवास होता हैं | एक मनुष्य जब शारीरिक रूप से स्वस्थ रहेगा तभी देश की सेवा कर सकता हैं |

संबंधित लेख:  हवा महल पर निबंध - पढ़े यहाँ Hawa Mahal Essay In Hindi

शक्तिबोध और सौंदर्यबोध

शक्तिबोध

देश के प्रति विद्यार्थी का तीसरा कर्तव्य हैं देश के शक्तिबोध और सौंदर्यबोध को बढ़ावा देना | देश का हर विद्यार्थी जहा भी जाए उसे अपने देश के बारे में पूरा स्मरण होना चाहिए | किसी भी विद्यार्थी को अपने देश के बारे में कभी बुराई नहीं करनी चाहिए |

किसी के सामने अपने देश की कमियां नहीं निकालनी चाहिए | उसे हमेशा अपने देश का गुणगान करना चाहिए | विद्यार्थी कहा भी जाए लेकिन उसे सकारात्मक वातावरण का निर्माण करना चाहिए | इसकी वजह से शक्तिबोध बढ़ता हैं |

सौंदर्यबोध

हर एक विद्यार्थी को अपने देश की सुंदरता को बढ़ाने के लिए अपना महत्वपूर्ण योगदान देना चाहिए | उसे देश में किसी भी जगह पर गंदगी नहीं फैलानी चाहिए और दुसरे लोगों को गंदगी करने केलिए रोकना चाहिए |

वो अपने साथ – साथ देश में स्वच्छता के प्रति सभी लोगों में जागरूकता फैला सकता हैं | विद्यार्थी को हमेशा अपने व्यवहार में सज्जनता रखनी चाहिए |

निष्कर्ष:

विद्यार्थियों को देश के विकास के लिए अपना महत्वपूर्ण योगदान देना चाहिए और उसमे यह महत्वपूर्ण हैं की, उन्हें देश की संपत्ति का विनाश नहीं करना चाहिए |

इस देश के सभी विद्यार्थियों को पूर्ण रूप से शक्ति और सामर्थ्य से देश को आगे बढाकर ताकि देश पूर्ण रूप से उन्नति कर सके |

संबंधित लेख:  हिंदी दिवस पर निबंध हिंदी में - पढ़े यहाँ Hindi Day Essay In Hindi
Updated: June 20, 2019 — 8:25 am

Leave a Reply

Your email address will not be published.