राष्ट्रभाषा पर निबंध – पढ़े यहाँ National Language Essay In Hindi

प्रस्तावना:

इस पूरे विश्व में हर एक देश की अपनी भाषा और संस्कृति होती हैं | लेकिन देश की असली पहचान उस देश की भाषा और संस्कृति से होती हैं | हमारे भारत देश में बहुत सारे राज्य हैं | उन सभी राज्यों की अलग – अलग भाषा हैं |

उसी प्रकार से भारत देश यह एक बहुभाषी देश हैं | लेकिन हिंदी यह इस देश की राष्ट्रभाषा हैं | हर एक व्यक्ति अपने विचारों को भाषा के मध्यम से आदान – प्रदान करता हैं | इसलिए देश की एक राष्ट्र भाषा होनी बहुत जरुरी हैं |

हिंदी भाषा की उत्पत्ति

हिंदी शब्द की उत्पत्ति सिन्धु शब्द से हुई है | सिन्धु नदी के हिस्सों में ईरानी लोग रहते थे | वही लोग सिन्धु न कहकर उसे हिन्दू कहते थे | इसके कारण वहाँ के लोग हिन्द, हिन्दू और हिंदुस्तान कहलाने लगे |

हिंदी भाषा का इतिहास

सन १९१८ में हिंदी साहित्य सम्मेलन में हमारे देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधीजी ने इस हिंदी भाषा को भारत की राष्ट्रभाषा बनाने के लिए कहा था | यह भाषा देवनागरी लिपि में लिखी गयी थी |

राष्ट्रभाषा का दर्जा प्राप्त

लेकिन भारत देश के आज़ादी के बाद इस हिंदी भाषा को १४ सितम्बर, १९४९ को देश की राष्ट्रभाषा घोषित की गयी |

उसके बाद २६ जनवरी १९५० को हमारे देश संविधान बना | उस संविधान के अनुसार इस भाषा को राजभाषा का दर्जा दिया गया हैं |

संबंधित लेख:  स्वतंत्रता दिवस पर हिंदी निबंध - पढ़े यहाँ Independence Essay In Hindi

हिंदी भाषा का महत्व

हिंदी भाषा को राष्ट्रभाषा इसलिए बनाई गयी हैं की, यह भाषा सभी लोगों को लिखने और पढने के लिए बहुत आसान हैं | इस भाषा का उपयोग कोई भी इंसान कर सकता हैं |

इस भाषा को सीखने के लिए ज्यादा किताब पढ़ने की जरुरत नहीं होती हैं | मनुष्य कुछ ही समय में इस भाषा को लिखना और पढ़ना सीख जाता हैं |

हिंदी भाषा की विशेषता

इस भाषा की मुख्य विशेषता यह हैं की, इस भाषा में जैसे ही लिखा जाता हैं, वैसे ही बोला जाता हैं |

हिंदी भाषा पर कार्यक्रम

हमारे देश में १४ सितम्बर को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता हैं | यह दिवस स्कूल और कॉलेज में भी विशेष तरीके से मनाया जाता हैं | इस दिन कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता हैं | इस दिन अन्य जगहों पर कार्यक्रम रखे जाते हैं |

स्कूल और कॉलेज में निबंध लेखन, वाद – विवाद, सांस्कृतिक कार्यक्रम, नाटक और इत्यादि अन्य कार्यक्रमों सादर किये जाते हैं | सरकार के द्वारा इस दिन पुरस्कार भी दिया जाता हैं |

सरकार ऐसे लोगों को पुरस्कार प्रदान करती हैं | जिन्होंने सभी लोगों तक इस भाषा का प्रसार और प्रचार करने के लिए अपना बहुमूल्य समय लगा दिया हैं |

निष्कर्ष:

हिंदी यह हमारी राष्ट्रभाषा ही नहीं बल्कि हमारी संपर्क भाषा और जनभाषा भी हैं | हिंदी भाषा यह सभी लोगों को एकता के सूत्र में बांधने का कार्य करती हैं |

संबंधित लेख:  GST (जीएसटी बिल) पर निबंध - पढ़े यहाँ Essay on Hindi in GST Bill

सभी लोगों को इस हिंदी भाषा पर गर्व होना चाहिए की यह हमारी राष्ट्रभाषा हैं | लोगों को देश की राष्ट्रभाषा को समझना और उसका सम्मान करना चाहिए |

Updated: May 17, 2019 — 11:56 am

Leave a Reply

Your email address will not be published.