मेरा घर पर निबंध हिंदी में – पढ़े यहाँ My House Essay In Hindi

प्रस्तावना :

घर यह सबसे सुन्दर और अच्छी जगह होती है | घर सबसे खुबसूरत जगह होती है | घर छोटा हो या बड़ा लेकिन सभी अपने घर से बहुत प्यार करते है | यह हर संसार की प्यारी जगह मानी जाती है | सभी लोग अपने घर प्रेम से रहते है |

घर को जीवन का सबसे महत्वपूर्ण जगह मानी जाती है | किसी भी व्यक्ति का जन्म जिस देश या गाँव में होता है वो अपने गाँव या देश या घर को कभी नही भूलता है |

संयुक्त परिवार

मेरा घर मुझे बहुत पसंद है | मेरा घर भगवान की तरफ से मिला हुआ जीवन एक छोटासा तोहफा है | मेरे घर में सभी लोग मिल जुलकर और एकसाथ रहते है |

मेरे घर में दादा – दादी, चाचा – चाची, भाई बहन और चाचा जी के लड़के यह सब रहते है | सभी को एक दुसरे से बहुत प्यार रहता है | कोई भी मुसीबत आती है तो सब साथ रहकर सुलझाते है |

मेरे घर में सभी लोगो के अलग अलग कमरा है | उसमे एक रसोई घर भी है | भगवन के लिए एक अलग से कमरा है | हमारे घर के आगे बहुत बड़ा आँगन है और उसमे बहुत सारे फूलों के फलों के पेड़ पौधे लगे हुए है |

घर और मकान

कई लोग मकान में रहते है तो कई लोग घर में रहते है | घर और मकान दोनों में बहुत अंतर होता है | मकान पत्थर और ईटा का बनाया हुआ रहता है | कई घर मिटटी के बनाये जाते है |

संबंधित लेख:  हिरण पर निबंध - पढ़े यहाँ Essay On Deer In Hindi Language

तो कई घर पत्थर और मिटटी से बनाये जाते है | घर को प्रतिक माना जाता है क्यों की घर में एकता की भावना, प्रेमभाव और एक दुसरे के लिए लगाव होता है |

विविधता

घर के चारो तरफ हरियाली दिखाई देती है | मेरे घर के बाजु में ही बहुत सारे आम के पेड़ भी है | गर्मी के मौसम में आम के पेड़ो पर सबसे पहिले छोटे छोटे आम लगते है |

हमारे घर के पास ज्यदा पेड़ पौधे होने के कारण वहा पर पुरे दिन पक्षी चह चहाने लगते है और सुबह में पक्षियों के मंजुल स्वर सुनने के लिए मिलते है |

हमारे घर के एक तरफ सब्जिया भी उगाते है | मेरा घर मुझे बहुत अच्छा लगता है | मेरे घर के पास खेलने के लिए एक मैदान भी है | सभी बच्चे शाम के समय उस मैदान में खेलने के लिए जाते है |

हमारे घर में एक गाय को पाल रखा है और मेरे घर पे एक कुत्ता भी है | हम सभी लोग उसको खाना खिलाते है | और उसका अच्छे से ख्याल भी रखते है |

निष्कर्ष :

मेरा घर यह सबसे सुन्दर और प्यारा है | मुझे अपने घर पर गर्व है | कभी मुझे मेरे घर से दूर जाना पड़ता है तो मुझे अपने घर की बहुत याद आती है | इसलिए मुझे मेरा घर सबसे अच्छा लगता है | मै अपने घर का बहुत ख्याल रखती हूँ |

संबंधित लेख:  नेताजी सुभाषचंद्र बोस पर निबंध - पढ़े यहाँ Subhash Chandra Bose Hindi Essay
Updated: March 2, 2019 — 10:52 am

Leave a Reply

Your email address will not be published.