मातृभूमि पर निबंध – पढ़े यहाँ Mathrubhumi Essay In Hindi

प्रस्तावना:

हर किसी के जीवन में अपने मातृभूमि का विशेष महत्व होता हैं | अगर हम अपनी मातृभूमि के बारे में बताना चाहे तो जितना बताएँगे उतना कम हैं | किसी भी देश की मातृभूमि यह स्वर्ग से भी महान होती हैं |

इसलिए ऐसा कहा गया हैं की – जननी जन्मभूमिश्च स्वर्गादपि गरीयसी’ अर्थात माँ और जन्मभूमि यह स्वर्ग से बढ़कर होते हैं क्योंकि स्वर्गलोक यह काल्पनिक हैं परन्तु हम सभी को अपने मातृभूमि का सुख जीवन में मिलता हैं |

हर एक व्यक्ति का जन्म जहाँ पर होता हैं, वह उसकी मातृभूमि होती हैं | उसे अपनी मातृभूमि बहुत प्यारी लगती हैं | उसी तरह भारत यह मेरी मातृभूमि हैं |

मातृभूमि का अर्थ –

जिस व्यक्ति का जन्म जहाँ पर होता हैं और उस भूमि की गोद में पलकर बड़ा होता हैं और उसे अपनी माँ के समान मानता हैं उसे उसकी ‘मातृभूमि’ कहा जाता हैं |

हर किसी को अपने मातृभूमि से बहुत प्यार होता हैं | उसी तरह यह भारतभूमि हमारी माँ हैं और सब सभी उसकी संताने हैं |

महापुरुषों की भूमि

भारत यह मातृभूमि अन्य कला, संस्कृति और साहित्य से परिपूर्ण हैं | इस भूमि को ऋषी – मुनियों और संतों की भूमि मानी जाती हैं | इस मातृभूमि (भारत) पर बहुत सारे महान पुरुषों का जन्म हुआ हैं |

संबंधित लेख:  सब्जी पर निबंध - पढ़े यहाँ Essay on Vegetables in Hindi

जैसे कि महात्मा गांधी, अशोक सम्राट, लोकमान्य तिलक, जवाहरलाल नेहरू, सरदार वल्लभभाई पटेल इन सभी ने भारत देश को शानदार बना दिया हैं |

सभ्यता

हमारा भारत देश यह एक पुरानी सभ्यताओं में से एक हैं | इस देश की संस्कृति और सभ्यता सबसे प्राचीन हैं | इस भारतभूमि पर मोहेंजोदड़ो और हडप्पा संस्कृति का उद्यम हुआ हैं |

उस समय आर्य और वैदिक कल भी आया हैं | जिसकी वजह से संगीत, साहित्य, नृत्य और चिकित्सा विज्ञान के द्वारा संस्कृति समृद्ध हो गयी हैं |

प्राकृतिक विविधता

हमारे इस भारतभूमि पर हरे – भरे वन, रेगिस्तान, महासागर, नदियों और पहाड़ों का स्थान हैं | हमारी भारतभूमि चारों तरफ से प्रकृति से घिरी हुई हैं | इस देश में अन्य जानवर, पशु – पक्षी और मछली इन सभी का खजाना हैं |

इस देश की मिट्टी बहुत उपजाऊ है | इसमें गेहूं, चावल, मसाले, फल और अनाज इत्यादि फसलों को उगाया जाता हैं |

अनेकता में एकता

हमारे भारत देश में विभिन्न जाती और धर्म के लोग रहते हैं | इन सभी धर्मों की संस्कृति और भाषा में विविधता हैं |

लेकिन इस देश में सभी धर्मों के लोग मिल जुलकर और सदभाव से रहते हैं | वो हर एक त्यौहार को एकसाथ मानते हैं |

लोकतंत्र देश

पुरे दुनिया में भारत देश सबसे बड़ा लोकतंत्र देश हैं | इस देश में पुरुषों के साथ – साथ सभी महिलाओं को उनके हक्क और अधिकार दिए गए हैं | यह एक धर्मनिरपेक्ष देश हैं |

संबंधित लेख:  निरक्षरता पर निबंध - पढ़े यहाँ Essay on Hindi Illiteracy

निष्कर्ष:

मातृभूमि यह हमारी पहचान हैं | हम सभी लोगों को अपनी मातृभूमि की रक्षा करनी चाहिए | हमारी मातृभूमि अन्य प्राकृतिक आपदाओं को झेलकर हमें सुरक्षित रखने का कार्य करती हैं |

हर एक व्यक्ति को कोई ऐसा कार्य नहीं करना चाहिए | जिससे हमारी मातृभूमि को ठेस पहुंचे | हमारा मातृभूमि से एक गहरा रिश्ता होता हैं |

अगर हमारी मातृभूमि पर कोई मुसीबत आ जाए तो हम सभी को उसका सामना करना चाहिए और इस मातृभूमि की शान को बनाए रखना चाहिए |

Updated: May 27, 2019 — 9:45 am

Leave a Reply

Your email address will not be published.