मकर संक्रांति पर निबंध – पढ़े यहाँ Makar Sankranti Essay In Hindi

प्रस्तावना :

मकर संक्रांति यह त्यौहार सभी लोग ख़ुशी से और धूमधाम से मनाते है | इस देश में अलग अलग धर्म, जाती के लोग रहते है | हर देश हर त्यौहार भिन्न भिन्न तरीके से मनाया जाता है | हिन्दू धर्म के अन्य त्योहारों में से मकर संक्रांति यह एक मुख्य त्योहार है |

यह त्यौहार भारत देश में बहुत धूमधाम से मनाया जाता है | मकर संक्रांति यह त्यौहार भारत देश के साथ साथ बांग्लादेश, भूटान और अन्य देशो में भी मनाया जाता है |

मकर संक्रांति त्यौहार

हर साल यह त्यौहार १४ जनवरी को मनाया जाता है | हिन्दू कैलेंडर के अनुसार पौष मास में जब सूर्य मकर राशी में प्रवेश करता है तब यह त्यौहार मनाया जाता है |

मकर संक्रांति मनाने का उद्देश

मकर संक्रांति इस त्यौहार मानाने का मुख्य उद्देश होता है, की जब सूर्य धनु राशी से निकलकर मकर राशी में प्रवेश करता है उस दिन मकर संक्रांति यह त्यौहार मनाया जाता है |

वैज्ञानिकों का मानना है, की इसी दिन से सूर्य का उदय पूरब के दिशा में होकर उसका अस्त दक्षिण दिशा में होता है | लेकिन उसके बाद सूर्य का उदय पूर्व दिशा में होकर उत्तरी गोलार्ध में हो जाता है तब समय छोटा होता है और दिन बड़े होने लगते है |

संबंधित लेख:  बतख पर निबंध हिंदी में - पढ़े यहाँ Duck Essay In Hindi

अलग अलग देशों 

मकर संक्रांति इस त्यौहार को तमिलनाडू में पोंगल पर्व के रूप में मनाते है | पंजाब और हरियाणा में लोहड़ी और असं में बिहू के रूप में मनाया जाता है |

इस त्योहार को सभी देशो में अलग अलग तरीके से मनाते है | कई लोग इस त्योहार को खिचड़ी के रूप में मनाते है |

मकर संक्रांति का महत्व

मकर संक्रांति के दिन कई लोग तीर्थ स्थनों पर स्नान करने के लिए भी जाते है | इस दिन को स्नान और दान करने का पर्व कहा जाता है | मकर संक्रांति के दिन पवित्र नदियों में स्नान करने महत्त्व है |

उसके साथ साथ तिल, गुड और खिचड़ी, फल इ चीजे दान करने पर पुण्य प्राप्त होता है | ऐसा माना जाता है | कई लोगो का मानना है की इस दिन सूर्य देव भी प्रसन्न हो जाते है | इस दिन कई लोग पतंग भी उड़ाते है | इस दिन का बहुत महत्व होता है |

सामाजिक महत्व

इस त्यौहार को सभी लोग अपने अपने तरीके से मनाते है | मकर संक्रांति के दिन कई लोग एक दुसरे को मिलते है और इस त्यौहार को ख़ुशी से मनाते है |

कई लोग अपने जिंदगी में इतने व्यस्त होते है की उनको एक दुसरे को मिलने के लिए समय नही मिलता है | इस त्योहार के माध्यम से एक दुसरे को मिल जाते है और धूमधाम से यह त्यौहार मनाते है |

संबंधित लेख:  लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक पर निबंध - पढ़े यहाँ Lokmanya Bal Gangadhar Tilak Essay In Hindi

निष्कर्ष :

मकर संक्रांति यह हिन्दू धर्म का एक मुख्य त्यौहार है | हिन्दू धर्म के लोग इस त्यौहार का बहुत रखते है | सभी त्यौहार हर एक मनुष्य को एक दुसरे से जोड़ने का कार्य करते है | इसलिए यह त्यौहार बहुत सुन्दर लगते है |

Updated: March 9, 2019 — 10:24 am

Leave a Reply

Your email address will not be published.