लाल बहादुर शास्त्री पर निबंध – पढ़े यहाँ Lal Bahadur Shastri In Hindi Essay

प्रस्तावना:

हमारे भारत देश के सभी नेताओं में से लाल बहादुर शास्त्री यह एक हैं | यह एक सच्चे देशभक्त थे | जिन्होंने अपने जीवन में देश की आज़ादी के लिए संघर्ष किया | लाल बहादुर शास्त्री ने गांधीजी के स्वतंत्रता संघर्ष में भी सहभाग लिया था |

वो हमेशा अपने जीवन में गांधीजी के सत्य और अहिंसा के नीतियों का पालन करते थे | उन्होंने अपना पूरा जीवन अनुशासन में रहकर बिताया हैं | उनका स्वभाव बहुत ही सीधा – साधा था |

लाल बहादुर शास्त्री का जन्म

इनका जन्म २ अक्टूबर, १९०४ को उत्तर प्रदेश के मुगलसराय में हुआ था | उनके पिता का नाम शारदाप्रसाद श्रीवास्तव था, वो एक अध्यापक थे |

उनकी माता का नाम रामदुलारी था | उनके पिताजी एक आदर्श शिक्षक होने के साथ – साथ उदार चरित्र के व्यक्ति थे |

उनका परिवार सबसे छोटा था | उनके परिवार के सभी लोग उन्हें प्यार से नन्हे कहकर बुलाया करते थे | जब लाल बहादुर शास्त्री एक साल के थे तब उनके पिता का देहांत हो गया |

लाल बहादुर शास्त्री की शिक्षा

उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा अपनी ४ वर्ष की उम्र से ही शुरू की थी | लाल बहादुर शास्त्रीजी ने अपनी छठवी कक्षा तक की पढाई मुगलसराय से ईस्ट सेंट्रल रेल्वे इण्टर कॉलेज से पूर्ण की थी |

संबंधित लेख:  सुभाष चन्द्र बोस पर निबंध - पढ़े यहाँ Essay on Subhash Chandra Bose in Hindi

उन्होंने अपनी छठवी की पढाई पूर्ण करने के बाद उनका पूरा परिवार वाराणसी में स्थानांतरित हो गया | उसके बाद उन्होंने सातवी की पढाई पूरी करने के लिए हरिश्चन्द्र इण्टर कॉलेज में प्रवेश लिया |

उन्होंने दसवी की कक्षा में जब महात्मा गाँधी जी का व्याख्यान सुना, जिसकी वजह वह प्रभावित हो गए | लाल बहादुर शास्त्री गांधीजी के विचारों से बहुत प्रभावित हो गए | उसके बाद उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम में हिस्सा ले लिया | जिसकी वजह से उन्हें जेल भी जाना पड़ा |

लाल बहादुर शास्त्री की जयंती

पुरे विश्व में लाल बहादुर शास्त्री जयंती यह स्कूल, कॉलेज और कार्यालयों में मनाई जाती हैं | इस दिन कई बच्चे गांधीजी की वेशभूषा धारण करते हैं, तो कोई बच्चे लाल बहादुर शास्त्री जी की वेशभूषा धारण करते हैं |

इस दिन लाल बहादुर शास्त्री जी का जय जवान, जय किसान यह नारा लगाते हैं | इसके साथ – साथ इस दिन कई सारे कार्यक्रमों और प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता हैं |

इस दिन भाषण भी दिया जाता हैं | लाल बहादुर शास्त्री यह ९ जून, १९६४ को हमारे भारत देश के प्रधानमंत्री बने थे |

उन्होंने सन १९१२ में असहयोग आंदोलन में सहभाग लिया | उन्होंने सबसे पहले हरिजन लोगों का उद्धार किया |

निष्कर्ष:

लाल बहादुर शास्त्री यह एक ईमानदारी, महान नेता, साहसी और सद्गिप्रिय व्यक्ति थे | इन्होने अपना पूरा जीवन देश की सेवा करने में लगा दिया था | यह एक सच्चे देशभक्त और इच्छा शक्तिवाले थे |

संबंधित लेख:  रमजान पर निबंध - पढ़े यहाँ Essay On Ramzan Festival In Hindi
Updated: June 19, 2019 — 1:38 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.