खो-खो खेल पर निबंध कक्षा ४ के लिए – पढ़े यहाँ Kho Kho Essay In Hindi For Class 4

प्रस्तावना:

हमारे भारत देश में अन्य प्रकार के खेल खेले जाते हैं | उन सभी खेलों में से खो – खो यह सबसे लोकप्रिय खेल हैं | यह खेल ज्यादातर तो गाँव में खेला जाता हैं |

यह खेल एक मैदानी खेल हैं | खो –खो इस खेल को खेलने के लिए अन्य साधनों की आवश्यकता नहीं होती हैं | यह खेल अत्यंत सरल और सीधा खेल हैं | खो – खो इस खेल को खेलने के लिए गति और चंचलता जरुरी हैं |

खो – खो खेल का मैदान

इस खेल को खेलने के लिए मैदान की आवश्यकता होती हैं | इस मैदान का आकार आयताकार होता हैं | खो – खो इस खेल का मैदान १११ फूट लम्बा और ५१ फूट चौड़ा होता हैं | इस मैदान में १० – १० फूट जगह छोड़कर चार – चार फूट ऊँचे खंबे लगाये जाते हैं |

मैदान के दोनों खम्बों के बीच की जगह को आठ बराबर भागों में विभाजन किया जाता हैं | यह खेल दो टीम के बीच में खेला जाता हैं | हर एक टीम में ९ खिलाडी होते हैं | खेलने वाली टीमों में से एक टीम खेलती हैं और दूसरी टीम दौड़ती हैं |

जो टीम बैठती हैं, उसमे से आठ खिलाडी समान्तर भागों में एक – दुसरे की तरफ पीठ करके बैठते हैं | एक खिलाडी खंबे के पास खड़ा होता हैं | जो टीम दौड़ती हैं, उस टीम के तीन खिलाडी मैदान में उतरते हैं | इस खेल को ९ – ९ मिनट के पारी में खेला जाता हैं |

संबंधित लेख:  कर्म ही धर्म हैं पर निबंध - पढ़े यहाँ Work Is Worship Essay In Hindi

उसके बाद दूसरी टीम बैठती हैं और बैठी हुई टीम का खिलाडी खो कहकर पीठ को छुकर दुसरे खिलाडी को भागने को कहता हैं | और उसकी जगह पर खुद बैठ जाता हैं | इसी तरह यह खेल खेला जाता हैं और जो टीम ज्यादा खिलाडियों को कम समय में आउट करती हैं वो टीम जीत जाती हैं |

खेल का महत्व 

हर एक मनुष्य के जीवन में खेलों का सबसे ज्यादा महत्व होता हैं | अन्य पारकर के खेल खेलने से मनुष्य का स्वास्थ्य स्वस्थ और निरोगी रहता हैं | मनुष्य को अपना स्वास्थ्य स्वस्थ बनाके रखने के लिए खेल बहुत ही महत्वपर्ण हैं |

अगर जीवन में खेल नहीं खेला जायेगा तो मनुष्य एकदम सुस्त बन जायेगा | मनुष्य में आलस्य बढ़ता हैं और शारीरिक क्षमता का विकास भी रुक जाता हैं |

खो – खो खेल खेलने के फायदे

यह खेल खेलने से शरीर तंदुरुस्त रहता हैं |

खो – खो खेल को खेलने से हमारे शरीर का विकास पूर्ण रूप से हो जाता हैं |

खो – खो खेलने से शरीर और हाथों की मांसपेशियां मजबूत हो जाती हैं |

इस खेल को खेलने से मन शांत रहता हैं और आलस्य दूर हो जाता हैं |

ख – खो खेलने से एकाग्रता शक्ति बढ़ जाती हैं |

संबंधित लेख:  होली पर निबंध - पढ़े यहाँ Holi Essay In Hindi For Class 3

निष्कर्ष:

खो – खो यह खेल दिमाग से खेला जाने वाला खेल हैं | यह खेल सबसे सस्ता और स्वास्थ्य के लिए फायदेशीर हैं | इस खेल को शांतिपूर्वक से खेला और इस खेल को खेलने से भाईचारा भी बढ़ जाता हैं |

Updated: May 11, 2019 — 5:24 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *