अनुशासन का महत्व पर निबंध – पढ़े यहाँ Importance Of Discipline Essay In Hindi

प्रस्तावना:

अनुशासन यह जीवन का सबसे बड़ा मूलमंत्र हैं | हर मनुष्य को इस अनुशासन को अपनाना चाहिए और उसके महत्व को समझना चाहिए | अनुशासन की वजह से मनुष्य के अन्दर की सारी शक्तियाँ केंद्रित हो जाती हैं |

अनुशासन यह मनुष्य को सच और सही रास्ते पर पहुँचाने में कार्य करता हैं | हर व्यक्ति के जीवन में अनुशासन का विशेष महत्व हैं |

अनुशासन का अर्थ –

अनुशासन का अर्थ होता हैं – अनुशासन यह शब्द दो शब्दों से मिलकर बना हैं – अनु + शासन | अनु का मतलब होता हैं पालन और शासन का अर्थ होता हैं – नियम | यानि अनुशासन का अर्थ होता हैं –सभी नियमों का सही से पालन करना |

मनुष्य जीवन में अनुशासन का महत्व

अनुशासन मनुष्य के जीवन में हर एक क्षेत्र में बहुत जरुरी हैं | अनुशासन के बिना मनुष्य का जीवन अधुरा हैं | इसलिए हर मनुष्य के अपने जीवन में अनुशासन को अपनाकर जीवन को सफल बनाना चाहिए |

जैसे की एक नदी उगम स्थान से निकलकर सामान्य रूप से बहती हैं और नदी के किनारों पर स्थल खेतों को जल सिंचित करती हैं उसी प्रकार से अनुशासित जीवन संसार को परिपूर्ण बनाता हैं |

विद्यार्थी जीवन में अनुशासन का महत्व

विद्यार्थी जीवन में अनुशासन का महत्व बहुत जरुरी होता हैं | जब विद्यार्थी अपने जीवन में अनुशासन को नही अपनाएगा तो उसके जीवन का विकास अच्छे तरीके से नही हो सकता हैं |

संबंधित लेख:  रमजान पर निबंध - पढ़े यहाँ Essay On Ramzan Festival In Hindi

विद्यार्थी जीवन उसे गुरुओं के आज्ञा का पालन करना चाहिए और ध्यानपूर्वक पढना चाहिए | तभी उसको अपने जीवन में सफलता मिल सकती हैं |

अन्य क्षेत्र में महत्व

अनुशासन हर एक क्षेत्र में बहुत जरुरी हैं | जैसी की शिक्षा, खेल, समाज, व्यवसाय इत्यादि. क्षेत्र में अनुशासन बहुत आवश्यक हैं | सैनिक जीवन में भी अनुशासन का बहुत महत्व हैं |

वो उस जीवन में कठिन परिस्थितियों में जी पाते हैं | खेल में भी अनुशासन का बहुत महत्व होता हैं, जो खिलाडी अनुशासन का पालन करता हैं वो उस खेल में जीत जाता हैं |

अनुशासन के प्रकार

अनुशासन यह दो प्रकार का होता हैं – बाहरी अनुशासन और आंतरिक अनुशासन |

बाहरी अनुशासन 

सबसे पहिला जो अनुशासन होता हैं, वो हर किसी के जीवन में जोर जबरदस्ती लाया जाता हैं और लोगों पर थोपा जाता हैं | उसे ‘बाहरी अनुशासन’ कहा जाता हैं |

आंतरिक अनुशासन 

दूसरा अनुशासन होता हैं वो आतंरिक अनुशासन | यह आंतरिक अनुशासन जो लोगों के जीवन में अभी अस्तित्व में हैं उसे आंतरिक अनुशासन कहाँ जाता हैं |

निष्कर्ष:

जो लोग अनुशासन को अपनाते हैं, वो अपने जीवन का विकास करते हैं | जहाँ अनुशासन नही होता हैं वहाँ जीवन नही होता हैं |

जो लोग अनुशासन में रहते हैं, उनके मन के अन्दर धैर्य और समझदारी का विकास होता हैं | हम सभी को अनुशासन में रहकर जीवन को खुशहाल और बेहतरीन बनाना चाहिए | अनुशासन यह जीवन का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा हैं | इसलिए सभी को नियमों के अनुसार चलना चाहिए |

संबंधित लेख:  जन्माष्टमी पर निबंध - पढ़े यहाँ Janmashtami Essay In Hindi
Updated: March 30, 2019 — 4:59 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *