भारत के स्वतंत्रता सेनानियों पर निबंध – पढ़े यहाँ Freedom Fighters In Hindi Essay

प्रस्तावना:

हमारी भारत भूमि यह महान पुरुषों की भूमि मानी जाती हैं | इस भारत भूमि पर बहुत सारे महान पुरुषों का जन्म हुआ हैं | लेकिन बहुत सालों पहले हमारे भारत देश में अंग्रेजों का राज था |

अंग्रेज यहाँ पर व्यापार करने के उद्देश से आये थे | परन्तु देखते – देखते उन्होंने यहाँ पर अपनी सत्ता बना ली | अंग्रेज भारतियों पर बहुत सारे जुल्म और अत्याचार करने लगे |

इसलिए महत सारे महान स्वतंत्रता सेनानियों ने इस भारत देश को आज़ादी दिलाने के लिए अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया हैं | इन सभी स्वतंत्रता सेनानियों के संघर्ष की वजह से हमारे भारत देश को १५ अगस्त, १९४७ को अंग्रेज सरकार के गुलामगिरी से मुक्त हो गया |

स्वतंत्रता सेनानियों का योगदान

स्वतंत्रता सेनानी यह किसी भी देश को आजाद करने के लिए बहुत अहम् भूमिका निभाते हैं | यह वह व्यक्ति होते हैं जो देश के लिए अपना तन – मन – धन यह सबकुछ त्याग कर देते हैं |

आज हम जो भी हैं, वो इन सभी स्वतंत्रता सेनानियों की वजह से हैं | इस देश के लिए महात्मा गाँधी, सुभाषचंद्र बोस, भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, राजगुरु, रामप्रसाद बिस्मिल, जवाहरलाल नेहरू, लाला लजपतराय, लोकमान्य तिलक इत्यादि. स्वतंत्रता सेनानियों ने अपने जीवन का त्याग किया हैं |

भारत के स्वतंत्रता सेनानी

महात्मा गाँधी

महात्मा गांधी जी ने पुरे जिंदगीभर भारत देश को आजाद करने के लिए संघर्ष किया | उनका जन्म २ अक्टूबर, १८६९ को गुजरात के पोरबंदर नामक स्थान पर हुआ था |

संबंधित लेख:  शिष्टाचार पर निबंध - पढ़े यहाँ Good Manners Essay In Hindi

इन्होने देश को आजाद करने में अपना बहुत बड़ा योगदान दिया हैं | महात्मा गांधी जी ने सत्य और अहिंसा का मार्ग अपनाकर इस देश को आज़ादी दी |

महात्मा गांधी जी ने देश को आजाद करने के लिए भारत छोड़ो आंदोलन, असहयोग आंदोलन, चम्पारण और खेडा सत्याग्रह किया |

सुभाषचंद्र बोस

हमारे भारत देश के सभी लोग इन्हें प्यार से नेताजी कहकर पुकारते हैं | इनका जन्म २३ जनवरी, १८९७ को ओड़िसा के कटक शहर में हुआ था | सुभाषचन्द्र बोस जी ने भारत देश को आजाद करने के लिए आजाद हिन्द सेना की स्थापन की थी | इन्होने देश की सेवा करने के लिए ICS जैसी नौकरी को छोड़ दिया |

भगत सिंह

भगतसिंह इनके मन में बचपन से ही देशभक्ति कुट- कूटकर भरी हुई थी | वो बचपन से ही भारत देश के लिए कुछ करना चाहते थे | इनका जन्म २७ सितम्बर, १९०७ को पंजाब में हुआ था |

इन्होने पंजाब के युवाओं को भारत देश के स्वतंत्रता आंदोलन में हिस्सा लेने के लिए कहाँ था | भगतसिंह ने सुखदेव और राजगुरु ने एकसाथ मिलकर लाहौर षड़यंत्र किया |

पंडित जवाहरलाल नेहरु

पंडित जवाहरलाल नेहरू इन्हें सभी बच्चे चाचा नेहरु के नाम से पुकारते थे | भारत देश को आज़ादी दिलाने के लिए इन्होने महात्मा गांधीजी का साथ दिया और पुरे ताकद से लडे |

संबंधित लेख:  अतिथि देवो भव पर निबंध हिंदी में - पढ़े यहाँ Guest Devo Bhava Essay In Hindi

वो दृढ़ विशव और संकल्प के साथ महात्मा गांधीजी के साथ सविनय अवज्ञा आंदोलन के साथ जुड़ गए |

निष्कर्ष:

स्वतंत्रता सेनानियों के मन में देशभक्ति की भावना कूट – कूटकर भरी हुई थी | इन्होने देश के सभी लोगों को भाईचारे का पाठ पढाया और भारत देश को आजाद करवाया | भारत देश के सभी नागरिकों को स्वतंत्रता सेनानियों का सम्मान करना चाहिए |

Updated: August 30, 2019 — 10:05 am

Leave a Reply

Your email address will not be published.