प्लास्टिक प्रदुषण पर निबंध – पढ़े यहाँ Essay On Plastic In Hindi Language

प्रस्तावना:

प्लास्टिक यह घटक हमारे पर्यवरण को बहुत तेजी से नुकसान पहुँच रहा हैं | प्लास्टिक प्रदूषण यह एक बहुत बड़ी समस्या हैं | प्लास्टिक कभी कभी नष्ट न होने वाला पदार्थ हैं |

प्लास्टिक प्रदूषण यह प्लास्टिक कचरे से निर्माण होता हैं | आज के समय यह विकराल रूप धारण किया हैं | इसका उपयोग हर दिन बढ़ते ही जा रहा हैं |

जिसका परिणाम हमारे पर्यावरण पर हो रहा है | प्लास्टिक प्रदूषण सभी सजीव सृष्टि के लिए सबसे बड़ा खतरा बन चूका हैं |

प्लास्टिक प्रदूषण

किसी भी चीज को दूषित होने के कारण प्रदूषण की समस्या निर्माण होती हैं | प्लास्टिक यह जहरीले केमिकल्स से बनाया हुआ पदार्थ हैं जो जल और मिट्टी  में जमा होने को ही ‘प्लास्टिक  प्रदूषण’ कहते हैं |

अविघटक पदार्थ

पल्स्टिक यह एक ऐसा पदार्थ हैं जो हजारों सालों तक नष्ट नहीं होता हैं | इस प्लास्टिक को बनाने के लिए जहरीले केमिकल्स का उपयोग किया जाता हैं |

प्लास्टिक यह एक ‘नान बायोडीग्रेडबल’ पदार्थ हैं | यह पदार्थ पानी या मिटटी में विघटित नहीं होता हैं | इसको जलाने पर पर भी इसका प्रभाव बहुत ज्यादा पड़ता हैं |

प्लास्टिक का उपयोग

हर एक मनुष्य अपने दैनंदिन जीवन में प्लास्टिक का उपयोग बहुत ज्यादा करता हैं | इसका उपयोग मनुष्य के द्वारा सबसे ज्यादा किया जाता हैं | आज विज्ञान की वजह से मनुष्य को हर एक चीज बहुत आसानी से मिलने लगी हैं |

संबंधित लेख:  वृक्षों के महत्व पर हिंदी में निबंध - पढ़े यहाँ Importance Of Trees In Hindi Essay

मनुष्य अपनी सुख – सुविधाओं के लिए अन्य प्रकार की तरक्की की हैं | उसकी वजह से मनुष्य आज आलसी बनते जा रहा हैं |

आज मनुष्य किसी भी दुकान पे जब वस्तु खरीदने जाता हैं तो घर से कपडे या कागज की थैली नहीं लेकर जाता हैं | जिसकी वजह से सामान बेचने वाला विक्रेता प्लास्टिक की थैली में सामान देता हैं |

प्लास्टिक प्रदूषण के परिणाम

प्लास्टिक प्रदूषण का सबसे ज्यादा परिणाम पर्यावरण और मनुष्य के स्वास्थ्य पर होता हैं |

जल प्रदूषण

प्लास्टिक से निर्माण होने वाला कचरा जल के स्त्रोतों में घुलमिल जाता हैं | जैसे की नदी – नालों, समुन्दर और महासागरों में मिल जाता हैं | अन्य जगहों पर फेका गया कचरा बारिश के समय नदियों और महासागरों में चला जाता हैं |

प्लास्टिक थैलियों की वजह से नदी – नाले रुक जाते हैं | प्लास्टिक हजारों सालों तक ख़राब नहीं होता हैं बल्कि महासागरों में पड़ा रहता हैं |

भूमि प्रदूषण

प्लास्टिक बहुत सालों तक विघटित नहीं होता हैं | इसलिए उसे भूमि के अंदर गाडा जाता हैं | यह प्लास्टिक विघटित नहीं होता हैं और जहरीले गैस और पदार्थ छोड़ता हैं | इसकी वजह से भूमि बंजर हो जाती हैं |

समुद्री जीवों के हानिकारक

प्लास्टिक थैलियाँ और अन्य प्लास्टिक वस्तु नदियों और समुद्र में पहुँच जाते हैं | उसकी वजह से समुद्री जीव उसे भोजन समझकर खाते हैं और उनकी मृत्यु हो जाती हैं |

संबंधित लेख:  हिंदी पर निबंध - पढ़े यहाँ Essay on Hindi in Hindi

निष्कर्ष:

प्लास्टिक प्रदूषण यह पुरे विश्व में एक सबसे बड़ी समस्या बन गयी हैं | इसे रोकने के लिए हर एक व्यक्ति को प्लास्टिक का उपयोग कम करना चाहिए | प्लास्टिक को खुले मैदान में नहीं फेकना चाहिए |

Updated: May 28, 2019 — 12:39 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.