गुलाब के फुल पर निबंध – पढ़े यहाँ Essay On Gulab In Hindi

प्रस्तावना:

हमारे भारत देश में अन्य तरह के फुल पाए जाते हैं | उन सभी फूलों में से गुलाब का फुल लोगों का सबसे प्रिय फुल होता हैं | गुलाब का फुल बहुत ही सुंदर और सुगन्धित फुल होता हैं | यह फुल झाड़ीदार और काटेदार होता हैं |

गुलाब फूल की खुशबू बहुत ही मनमोहक लगती है | यह फुल लोगों को अपनी तरफ आकर्षित कर लेता हैं | गुलाब फुल को सभी फूलों का राजा कहा जाता हैं |

गुलाब फुल के रंग

गुलाब का फुल विभिन्न रंगों में पाया जाता हैं | जैसे की गुलाबी, लाल, सफ़ेद, पिला और बैगनी इत्यादि | यह फुल अपनी सुंदरता के कारण पुरे विश्व में सबसे प्रसिद्ध हैं | गुलाब फुल का पौधा हर एक बगीचे में पाया जाता हैं |

गुलाब फुल का उपयोग

गुलाब का उपयोग अन्य कार्यों में किया जाता हैं | गुलाब के फुल से इत्र बनाया जाता हैं | इस फुल के पत्तियों से गुलकंद भी बनाया जाता हैं | कई लोग गुलाब फुल को भगवान के चरणों में चढाते हैं | गुलाब फुल से गुलाबजल बनाते हैं |

इसके अलावा गुलाब फुल पंडित जवाहरलाल नेहरु को सबसे प्रिय था | पंडित जवाहरलाल नेहरु हमेशा अपनी शेरवानी पर गुलाब फुल को लगाकर रखते थे |

गुलाब फुल की प्रजाति

गुलाब फुल की लगभग १०० से भी ज्यादा प्रजातियाँ पाई जाती हैं | उसमे प्रमुख हैं – एशियाई गुलाब | गुलाब फुल का आकार और रंग के आधार पर विभिन्न प्रकार हैं | कई जगह पर गुलाब का फुल काले रंग में भी पाया जाता हैं |

संबंधित लेख:  तोते पर निबंध कक्षा ४ के लिए - पढ़े यहाँ Parrot Essay In Hindi For Class 4

गुलाब फुल के प्रकार

गुलाब का फुल दो प्रकार का होता हैं – एक सदागुलाब और चैतीगुलाब | सदागुलाब यह हर एक मौसम में मिलता हैं और चैतीगुलाब बसंत ऋतू में खिलता हैं |

इन गुलाबों की महक दो प्रकार के गुलाबों की विशेष महक होती हैं | हमारे दक्षिण भारत में गुलाब फूलों की खेती की जाती है  |

दवाइयों में उपयोग

गुलाब के फुल से कई प्रकार की दवाइयां बनाई जाती हैं | इसे हर दिन खाने से टी.बी का रोग बहुत जल्दी ठीक हो जाता हैं | इस फुल को विभिन्न भाषा में अलग – अलग नामों से पुकारा जाता हैं |

सजावट में उपयोग

गुलाब फुल का सजावट करने के लिए किया जाता हैं | उसके साथ – साथ गुलाब फुल के गुलदस्ते भी बनाए जाते हैं | शादी में और किसी भी समारोह में गुलाब के फूलों की सजावट की जाती हैं |

निष्कर्ष:

गुलाब के फुल को शांति का प्रतीक माना जाता हैं | यह बहुत सुंदर और कोमल होता हैं | इसलिए छोटे बच्चों को गुलाब फुल के समान माना जाता हैं |

हमारे भारत देश में १२ फरवरी को गुलाब दिवस मनाया जाता हैं | गुलाब के फुल को देवी – देवताओं को अप्र्पन किया जाता हैं | गुलाब के फुल को ‘देव पुष्प’ भी कहा जाता हैं |

संबंधित लेख:  अतिथि देवो भव पर निबंध हिंदी में - पढ़े यहाँ Guest Devo Bhava Essay In Hindi
Updated: June 17, 2019 — 2:10 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.