प्रदुषण पर निबंध – पढ़े यहाँ Essay In Hindi On Pollution

प्रस्तावना:

मनुष्य और पर्यावरण इन दोनों का बहुत गहरा संबंध हैं | मनुष्य को प्रकृति के द्वारा बहुत सारी चीजे प्राप्त होती हैं | उन सबही चीजों का उपयोग अपने जीवन में करता हैं |

लेकिन मनुष्य अपनी सुख – सुविधाओं और स्वार्थ को पूरा करने के लिए इस प्रकृति के साथ छेड़छाड कर रहा हैं | इसकी वजह से आज प्रदूषण की समस्या निर्माण हो गयी हैं | विज्ञानं के इस युग में मनुष्य को कुछ वरदान भी मिले हैं और अभिशाप भी मिले हैं |

आज के समय में प्रदूषण यह सबसे बड़ी समस्या बन गयी हैं | प्रदूषण यह अन्य समस्याओं में से एक गंभीर बन गयी हैं |

प्रदूषण का अर्थ –

प्रदूषण का अर्थ होता है – प्राकृतिक संतुलन में दोष पैदा होना यानि हमारे आसपास के पर्यावरण प्रदूषित होना | वातावरण प्रदूषित होने के कारण ना शुद्ध हवा, ना शुद्ध भोजन, ना शुद्ध खाद्य मिलता हैं |

प्रदूषण के प्रकार

प्रदूषण के अन्य प्रकार हैं | उन सभी प्रकारों में से मुख्य रूप से तीन प्रकार का प्रदूषण बहुत हानिकारक होता हैं | जैसे की जल प्रदूषण , वायु प्रदूषण और ध्वनि प्रदूषण |

जल प्रदूषण

इस धरती पर जल के बिना कोई भी सजीव कल्पना नहीं कर सकता हैं | लेकिन इस जल में बाहरी दूषित जल मिलने के कारण जल प्रदूषित हो जाता हैं और जल प्रदूषण की समस्या निर्माण हो जाती हैं |

संबंधित लेख:  दीपावली पर निबंध - पढ़े यहाँ Essay Diwali Hindi

कई लोग कारखानों में से निकलने वाला दूषित जल नदी – नाले, समुंद्र में छोड़ देते हैं | जिसकी वजह से जल दूषित हो जाता हैं और अन्य प्रकार की बीमारियाँ फ़ैल जाती हैं |

ध्वनि प्रदूषण

मनुष्य को अपना जीवन जीने के लिए शांत वातावरण की जरुरत होती हैं | अन्य प्रदूषणों में स्व ध्वनि प्रदूषण यह एक समस्या हैं |

जब सड़कों पर अन्य प्रकार की वाहने, मोटर साइकल और कार्यक्रमों के लिए लगे हुए लाऊड स्पीकर और कारखानों में चलने वाली मशीनों के शोर की वजह से ‘ध्वनि प्रदूषण ’ होता हैं |

ध्वनि प्रदूषण की वजह से मनुष्य के स्वास्थ्य पर परिणाम होता हैं | उसकी सुनने की शक्ति कमजोर हो जाती हैं |

वायु प्रदूषण

हर किसी के जीवन में वायु बहुत महत्वपूर्ण होती हैं | जब यह वायु हानिकारक गैसों की वजह दूषित हो जाती हैं तब वायु प्रदूषण की समस्या निर्माण हो जाती हैं | जैसे की कार्बन डाय ऑक्साइड और कार्बन-मोनो-आक्साइड मिलने से वायु दूषित हो जाती हैं |

पेड़ों को काटने की वजह से और वाहनों और कारखानों में से निकलने वाले धुएं की वजह से हवा प्रदूषित हो जाती हैं | इसकी वजह से मनुष्य को साँस लेना बहुत मुश्किल हो जाता हैं |

निष्कर्ष:

हम सभी लोगों को अन्य प्रकार के प्रदूषण को रोकने के लिए प्रयास करना चाहिए | मनुष्य को पेड़ों की कटाई करने की जगह पर ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने चाहिए |

संबंधित लेख:  स्वच्छता पर निबंध - पढ़े यहाँ Cleanliness Essay In Hindi

प्रदूषण को दूर करने के लिए सामाजिक जागरूकता के कार्यक्रमों का आयोजन करना चाहिए | प्रदूषण यह सिर्फ देश की समस्या नहीं हैं बल्कि पुरे विश्व की समस्या हैं |

Updated: June 18, 2019 — 1:27 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *