दुर्गा पूजा पर निबंध हिंदी में – पढ़े यहाँ Durga Pooja Essay In Hindi

प्रत्स्तावना :

भारत देश में हिन्दुओ का बहुत ही खास त्योहार होता है जिसे हम गुडी पाडवा / नवरात्र के नाम से भी जानते है| इस दिन मुख्यतः रूप से माता दुर्गा की पूजा करते है , और यह ९ दिन का होता है किंतु यह १० दिनो तक होता है | माना जाता है की इस दिन से कोल्कता में मेला और बाजार लगते है |इस त्योहार के लगते ही यह पुरे ९ दिन तक मा दुर्गा की पूजा की जाती है |  और इसके बाद जब देवी माता की पूजा के बाद पारंपरिक तारीखों से उनके मूर्ति को जल नदी ,तलब जैसे जगहों पर विसर्जित कर देते है |

दुर्गा पूजा का महत्व और इसके लाभ 

इस त्योहार को जादातर लोग कोलकाता में मानते है, अब तो हालाँकि पुरे भारत देश में भी मानाने लगे है| इस त्योहार का बड़ा ही सांस्कृतिक महत्वा है जो की यह प्राचीनता से हमें जोड़ता है इन दिनों लोग माता दुर्गा की फूल माला,कपूर ,दिए इत्यादि पूजा करने की सामग्री को अर्पित कर उनकी पूजा अर्चना की जाती है |इस त्योहार में सबसे ज्यादा ख़ुशी तो बच्चो को होती है| क्योकि बच्चो को स्कूल से अच्छी  छुट्टी भी मिल जाती है |  जिससे उन्हें खेलने का अवसर मिल जाती है |दुर्गा पूजा की कहानी 

संबंधित लेख:  आम के पेड़ पर निबंध हिंदी में - पढ़े यहाँ Mango Tree Essay In Hindi

नवरात्र या दुर्गा पूजा ये दोनों एक ही त्योहार है |इसका मतलब होता है की अच्छाई की बुराई पर जित हो |इन दिनों में माता भारत के भक्तो का यह मानना है की इस दिन माता दुर्गा महिषासुर राक्षस जो की बैल की सावरी करता था |और लोगो को परेशां करता था, उसपर विजय पाकर लोगो को इस मुसीबत से छुटकारा दिलाया |हालाँकि उस रक्षस पर विजय पाना इतना असं भी नहीं था |माँ दुर्गा का जन्म 

किंतु इस पर विजय पाने के लिए पुरे ९ दिन तक घमासान युध चला तब जाके उन्होंने १०वे दिन उस पर विजय पाई | जैसा की श्रीमद भगवद गीता में लिखा है की ,माता दुर्गा को भगवन शिव ,ब्रम्हा और विष्णु के हवन करने पर एक हवन कुंड से प्रकट हुई थी |और भगवान शिव ने इन्हें इसी कार्य के लिए आमंत्रित किया जिससे की राक्षसों को मार कर उनके आतंक और भय से लोगो को मुक्क्त करे| 

निष्कर्ष :

हमारे भारत देश में पूजा अर्चना को बहुत प्रथम  स्थान दिया गया है,और जैसा की पुराणों में तर्कित है की देविओ को देवताओ से पहले का दर्जा दिया गया है, और सम्पूर्ण देवियों में दुर्गा देवी को सबसे पहला दर्जे का सम्मान दिया गया है |

संबंधित लेख:  साक्षरता पर निबंध - पढ़े यहाँ Essay On Literacy In Hindi Language

हम माता दुर्गा पूजा के रूप में मानो स्त्री शक्ति की पूजा करते है,क्योकि उन्ही के कारण सम्पूर्ण संसार को सकती मिलती है | यह त्योंहर भारत के विपरीत भारत से जुड़े देश जैसे बांग्लादेश और नेपाल में भी मनाया जाता है |

यहाँ पर भिन्न- भिन्न धर्मो के लोग निवास करते है और वो सम्पूर्ण वर्ष अपने अपने पर्वो को मानते रहते है|

अतः दुर्गा पूजा का मूल कारण है, की बुरी शक्तियों का विनाश हो और अच्छी शक्तियों का उद्गम हो जिससे की संसार में कुस्नुमा माहौल बना रहे|

Updated: February 21, 2019 — 1:07 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.