डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम पर निबंध हिंदी में – पढ़े यहाँ Dr. APJ Abdul Kalam Essay In Hindi

प्रस्तावना :

डॉ. ए.पी.जे अब्दुल कलाम इनका जन्म १५ अक्टूबर १९३१ को भारत के तमिलनाडू राज्य के रामेश्वरम जिले में हुआ था | डॉ. ए.पी.जे अब्दुल कलाम इनका पूरा नाम डॉ. अब्दुल पकिर जैनुलाबदीन अब्दुल कलाम है |

लोग इनको डॉ. ए.पी.जे अब्दुल कलाम नाम से जानते थे और पुकारते थे | उनका पहिला शिक्षण पूरा करने के बाद उनको हायर सेकंड्री की पढाई के लिए रामनाथपुरम जाना पड़ा | डॉ. ए.पी.जे अब्दुल कलाम भारत देश के राष्ट्रपती थे और वो शास्त्रज्ञ भी थे |

पुरस्कार ( संपादन )

डॉ. ए.पी.जे अब्दुल कलाम भारत देश के गणतंत्र दिन के अवसर पर उनको अध्यक्षपदी स्थान प्राप्त हो गया | सन १९८१ में प्रजासत्ताक दिवस के दिन उनको “पदमभूषण “ यह पुरस्कार देके उनको सन्मानित किया गया |

डॉ. ए.पी.जे अब्दुल कलाम भारत देश के तीसरे राष्ट्रपती थे | उनको राष्ट्रपती होने से पहिले भारतरत्न, भारत का सर्वोच्च नागरिक यह पुरस्कार प्राप्त हो गया | उनको भारत सरकार ने भारत रत्न, पद्विभूषण और पदमभूषण यह पुरस्कार देकर सन्मानित किया गया |

डॉ. ए.पी.जे अब्दुल कलाम इनका जीवन

डॉ. ए.पी.जे अब्दुल कलाम इनका जीवन बहुत सीधा और साधा था | अपने भारत देश को विकसित करना और उसमे आर्थिक सम्पन्नता के दृष्टी से अपने राष्ट्र को मजबूत बनाने के लिए उन्होंने महतवपूर्ण भूमिका निभायी है | डॉ. ए.पी.जे अब्दुल कलाम इनका जीवन के बारे में दृष्टिकोण था वो काफी उदार था |

संबंधित लेख:  लड़का - लड़की एक समान पर निबंध - पढ़े यहाँ Beta Beti Ek Saman EssayIn Hindi Wikipedia

इनका कहना है की, इस दुनिया में कुछ लोग ऐसे होते है जो अपने संसार के अनुसार जीने के लिए ढाल लेते थे और कुछ लोग ऐसे होते है जो दुनिया को विकसनशील और आर्थिक दृष्ट्या सम्प्पन बनाने की कोशिश करते है |

हर व्यक्ति को भगवान ने कुछ सृजनात्मक काम करने के लिए भेजा है | उन्होंने हमेशा हर व्यक्ति को जीवन के आगे बढ़ने का सन्देश दिया है | उनका जीवन पूरा देश कार्य करने में चला गया है |

अपने देश में प्रगति करना और देश को ऊचे स्तर पर लेके जाना यही उनका कर्तव्य था | उनके इस काम की वजह से उनको लोग उनको ” पीपल्स प्रेसिडेंट “ इस नाम से प्रसिध्द हो गए थे |

डॉ. ए.पी.जे अब्दुल कलाम महान कवी

डॉ. ए.पी.जे अब्दुल कलाम इनको बचपन से संगीत बहुत पसंद था | वो संगीत अच्छे से सुनते थे और उसके बाद खुद अपनी धून में वो गाते थे |

बहुत सारे लोग उनको एक अच्छा कवी समजते थे | उन्होंने दो पुस्तके लिखी जो देश में बहुत प्रसिद्ध हो गयी | उनका नाम है इंडिया २०२० और विंग्स ऑफ़ फ़ायर एन ऑटोबायोग्राफी’ शामिल है निष्कर्ष:

डॉ. ए.पी.जे अब्दुल कलाम इन्होने अपने देश का नाम गर्व से ऊँचा किया है | वो भारत देश के सबसे बड़े वैज्ञानिक थे | उनके इस महान कार्य के लिए हम उनको हमेशा याद रखेंगे |

संबंधित लेख:  उड़ान योजना पर निबंध - पढ़े यहाँ Essay on Udan Scheme in Hindi

 

Updated: February 21, 2019 — 12:58 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published.