विमुद्रीकरण पर निबंध पढ़े यहाँ Demonetization In Hindi Essay

प्रस्तावना:

हमारा भारत देश यह एक विशाल देश हैं | इस देश में बढ़ते हुए भ्रष्टाचार को रोकने के लिए भारत सरकारने विमुद्रीकरण करने का निर्णय लिया | इसकी वजह से आम जनता को अन्य समस्याओं का सामना करना पड़ा |

परन्तु भ्रष्टाचार की समस्या कम हो गयी | जिसके कारण हमारे भारत देश की अर्थव्यवस्था में बहुत सारा सुधार होने लगा |

विमुद्रीकरण का अर्थ

जब सरकार पुरानी मुद्रा को क़ानूनी तौर से बंद करके उस जगह पर नई मुद्रा को लाने की घोषणा करता हैं तब उसे ‘विम्रुद्रिकरण’ कहा जाता हैं |

विमुद्रीकरण की शुरुआत

हमारे भारत देश में ८ नवम्बर, २०१६ को हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने शाम के ८ बजे विमुद्रीकरण की घोषणा की थी | इसके माध्यम से ५०० और १००० की मुद्रा को क़ानूनी तौर से बंद कर दिया गया |

विमुद्रीकरण करने के बाद देश के हर एक नागरिक को पुरानी मुद्रा जमा करने के लिए कुछ समय दिया गया |

विमुद्रीकरण की जरुरत

मोदी सरकारने भारतीय सत्ता में आकर देश के विकास के लिए बहुत सारे कार्य किये हैं | उन सभी कार्यों में से विमुद्रीकरण यह एक हैं |

देश में छुपा हुआ काला धन बाहर निकालने के लिए और भ्रष्टाचार और आतंकवाद की समस्या को खत्म करने के लिए विमुद्रीकरण किया गया हैं | हमारे देश की अर्थव्यवस्था को सुरक्षित रखने के लिए विमुद्रीकरण करना बहुत आवश्यक था |

संबंधित लेख:  शिक्षक दिवस पर निबंध - पढ़े यहाँ Short Essay On Teachers day in hindi

विमुद्रीकरण का प्रभाव

विमुद्रीकरण की वजह से सभी लोगों को अन्य सारे मुसीबतों का सामना करना पड़ा | सभी लोगों को अपनी पुरानी मुद्रा को बदलने के लिए बैंक के बाहर लाइन लगानी पड़ती थी | उसकी वजह से उद्योग धंधों पर बहुत असर पड़ा |

इसका सबसे ज्यादा प्रभाव पर्यटन स्थल पर हुआ | विमुद्रीकरण की वजह से बहुत सारे कामों में मंद गति निर्माण हो गयी | कई सारे लोग विमुद्रीकरण की वजह से शादियाँ भी उतनी धूमधाम से नहीं कर पाए |

विमुद्रीकरण के लाभ

विमुद्रीकरण से बहुत सारे लाभ हुए | जैसे की

कालाधन

जब सभी लोग बैंकों में पैसा जमा करने गाये तब हर एक पैसे की जानकारी सरकार के पास चली गयी |

जिन लोगों के पास आय से भी ज्यादा पैसा मिला उनसे आयकर विभाग वाले लोगों ने जाँच पड़ताल की | उसके साथ – साथ बहुत सारे लोगों के पास जो काला धन था वो पकड़ा गया |

आतंकवाद की समस्या

कालेधन की वजह से आतंकवादी और भ्रष्टाचारी लोगों को बढ़ावा मिलता हैं | उसके साथ अहिंसा को बढ़ावा मिलता था | देश में कालाधन कम होने के कारण आतंकवाद और भ्रष्टाचार में कमी आ गयी |

देश का विकास

विमुद्रीकरण की वजह से बहुत सारा काला धन सरकार के पास चला गया और उस पैसे का उपयोग सरकारने देश के विकास के लिए लगाया |

संबंधित लेख:  कंप्यूटर के बारे में निबंध - पढ़े यहाँ Essay About Computer In Hindi

रोजगार

विमुद्रीकरण के कारण बैंक में बहुत सारा पैसा जमा हो गया जिसकी वजह से लोगों को नया उद्योग शुरू करने के लिए कर्ज के द्वारा दिया गया | जिससे रोजगार में वृद्धि हो गयी |

निष्कर्ष:

विमुद्रीकरण करने के लिए भारत सरकार के द्वारा उठाया गया यह कदम बहुत ही अच्छा था | इसकी वजह से देश के विकास में गति प्राप्त हो गयी |

इसलिए हम सभी लोगों को सरकार के इस फैसले का समर्थन करना चाहिए और उसे सफल बनाने के लिए प्रयास करना चाहिए |

Updated: June 15, 2019 — 9:54 am

Leave a Reply

Your email address will not be published.