बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ पर निबंध कक्षा ६ के लिए – पढ़े यहाँ Beti Bachao Beti Padhao Essay In Hindi For Class 6

प्रस्तावना:

इस धरती पे दो प्रकार के इंसान रहते हैं – एक पुरुष और दूसरा स्त्री | इस धरती पर दोनों के समान भागीदारी के बिना जीवन असंभव हैं | देश के विकास और मानव जाती के अस्तित्व के लिए यह दोनों समान रूप से जिम्मेदार हैं | पुरुषों से भी ज्यादा महिलाए सबसे महत्वपूर्ण होती हैं |

प्राचीन समय से ही लड़कियों को बहुत सारे अपराधों को पीड़ित होना पड़ता था | लड़कियों को गर्भ में ख़तम कर दिया जाता था | इस सभी अपराधों को खत्म करने के लिए सरकार ने बेटी बचाओं, बेटी पढाओं यह योजना शुरू कर दी हैं |

कन्या भ्रूण हत्या

लड़का यह वंश को आगे बढ़ने वाला होता और लड़की यह पराया घर का धन होती हैं | ऐसी कई लोगों की सोच थी इसके कारण कई लोग लिंग जाँच करके उनको पता चलता था की लड़का है या लड़की | लड़की होती थी तो उसे गर्भ में ही खत्म कर दिया जाता था |

लडकी की शादी में उसे दहेज़ देना पड़ता था | तो कई लोग दहेज़ के नाम से डरकर लड़की को मार देते थे | तो कई लोग गरीबी के कारण मजबूर होते थे | इन सभी कारणों की वजह लड़की मनुष्य अन्य प्रकार के अपराध करता था |

योजना की शुरुवात

बेटी बचाओं, बेटी पढाओं इस योजना को शुरुवात देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदीजी ने २२ जनवरी, २०१५ को पानीपत और हरयाणा में सबसे पहले शुरू किया था | इस योजना का मुख्य उद्देश हमारे देश में लिंग असमानता को रोकने का था |

संबंधित लेख:  बैडमिंटन पर निबंध हिंदी में - पढ़े यहाँ Badminton Essay In Hindi

बेटी बचाओं, बेटी पढाओं इस योजना के आरम्भ समारोह में नरेन्द्र मोदीजी ने यह कहाँ था की, हम भारतियों के घर में कन्या जन्म एक त्यौहार की तरह मानना चाहिए | सभी लोगों को लड़कियों पर गर्व होना चाहिए |

समान अधिकार

इस अभियान के द्वारा हर एक लड़की को समान अधिकार मिलना चाहिए | हर एक लड़की को शिक्षित करना चाहिए और उनके सपनो को पूरा करना चाहिए | लड़कियों के उनके सभी अधिकार देना बहुत जरुरी हैं | समाज और देश में लड़की को उसका हर एक हक्क देना चाहिए |

अभियान की आवश्यकता

लड़की किसी भी क्षेत्र में लड़कों से कम नही होती हैं | लड़की एक आज्ञाकारी और अभिमानी साबित होती हैं | लड़की परिवार से लेकर सभी कार्यों को अच्छी तरह सँभालने वाली होती हैं |

एक लड़की जीवन में एक बेटी, बहन, पत्नी और माता की सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं | लड़की इस संसार में हर एक जिम्मेदारी अच्छे तरह से निभाती हैं | इसलिए हर किसी लड़की को समान रूप से देखना चाहिए |

निष्कर्ष:

इस देश के हर एक नागरिक को लड़की को बचाने और पढ़ाने के लिए प्रयास करना चाहिए | सभी लोगों में जागरूकता फैलानी होगी | उसके साथ – साथ समाज के लोगों के विचारों में परिवर्तन करना चाहिए |

संबंधित लेख:  सह-शिक्षा पर निबंध - पढ़े यहाँ Essay on Co Education in Hindi

तभी सभी लोग लड़कियों का सम्मान करेंगे | देश के विकास के लिए दोनों समान रूप से भागीदार होना जरुरी हैं | तभी हमारे देश का विकास हो सकता हैं |

Updated: March 30, 2019 — 7:27 am

Leave a Reply

Your email address will not be published.