अनेकता में एकता पर निबंध हिंदी में – पढ़े यहाँ Unity In Diversity Essay In Hindi

प्रस्तावना

हमारा भारत देश बहुत महान है | इस देश में रहने वाले सभी लोग भारतीय है | हमारे देश में अलग अलग जाती और धर्मो के लोग रहते है | हर एक देश की धर्म की संस्कृति भिन्न – भिन्न है | देश में सभी लोग एक साथ मिल जुलकर रहते है |

सभी धर्मो में लोगों का एक ही भावना रहती है की ईश्वर प्राप्ति करना और शांति को आत्मसात करना | हमारे भारत देश में अनेकता में एकता दिखाई देती है |

विभिन्न देश और धर्म

हमारे भारत देश में पंजाब, उड़ीसा, केरल, हरियाणा, कश्मीर, कर्नाटक, महाराष्ट्र, अरुणाचल प्रदेश ऐसे बहुत केन्द्रीय प्रान्त है | इस देश में सभी धर्म के लोग रहते है | जैसे की हिन्दू, मुस्लिम, शीख, इसाई, फारसी यह सब धर्मो के लोग रहते है |

सभी लोग एक दुसरे से प्रेमभाव से रहते है | सभी लोग हर सुख दुःख में एकसाथ रहते है | इसलिए हम सभी भारतीय है और हमारा देश भी एक है |

अलग अलग भाषाए

देश में अलग अलग भाषाए भी बोली जाती है | हिंदी, मराठी, तमिल, तेलगु, बंगाली, पंजाबी यह सभी भाषाए बोली जाती है | लेकिन सब की भावना एक ही होती है और सभी लोग एक दुसरे के भावनाओं को समजते है | यह सब भाषाए अनेकता में एकता दिखाता है |

विविध त्योहार

देश में बहुत सारे त्योहार मनाये जाते है | सभी लोग हर एक त्योहार एकसाथ मनाते है | इस देश में दिपावली, दशहरा, गणेश चतुर्थी, क्रिसमस यह सभी त्योहार मिलजुलकर मनाते है और पुरे समाज में एकता की भावना होती है |

देश में हर भारतवासी के मन में दया, करुणा, प्रेम, अहिंसा और त्याग की भावना प्रकट होती है | भारत देश अनेक संस्कृतियों का देश है और इस देश के सभी लोगो में अनेकता में एकता दिखाई देती है |

कार्यक्रमों का आयोजन

देश में अलग अलग त्योहार और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है तो सभी लोग इस कार्यक्रम में सहभाग होते है | इसमें हमें सभी लोगों में अनेकता में एकता दिखाई पड़ती है | सभी लोग प्यार से रहते है और एक दुसरे को समझते है |

हमारे भारत देश के सभी लोग जितनी अपने धर्म को इज्जत देते है उतनी ही इज्जत सभी धर्मो को देते है | वो सब धर्मो को एकसमान ही मानते है |

निष्कर्ष

हमारे देश में कोई भी मुसीबत आए लेकिन हम सभी को एकसाथ और एक दुसरे का साथ देना चाहिए | सभी लोगो में एकता बनाके रखनी होगी और प्रेम पूर्वक रहना होगा |

Updated: February 26, 2019 — 12:54 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *