स्वदेश प्रेम पर निबंध – पढ़े यहाँ Swadesh Prem Essay In Hindi

प्रस्तावना :

देश में रहने वाला हर एक व्यक्ति अपने स्वदेश से बहुत प्रेम करता हैं | इस भारत भूमि को कई लोग अपनी जननी मानते हैं | हमारा देश हम सभी लोगो को अन्य चीजे और सुख सुविधा देता हैं | इसके कारण हर मनुष्य का जीवन सफल और परिपूर्ण बनता हैं |

हर एक व्यक्ति जिस देश में जन्म लेता हैं और बड़ा होता हैं | उसे उस देश की ज्यादा से ज्यादा सेवा करनी चाहिए | अपने इस देश को कभी नही भूलना चाहिए |

स्वदेश का अर्थ –

स्वदेश प्रेम का अर्थ होता हैं – अपने मन में देश के प्रति प्यार होना | हर एक व्यक्ति अपने स्वदेश से बहुत प्यार करता हैं |

स्वदेश के लिए प्रेम की भावना

इस देश में रहने वाले हर एक व्यक्ति के मन में अपने देश के लिए प्यार की भावना होनी चाहिए | देश के लिए जो व्यक्ति अपने सब कुछ त्याग करता हैं वही सच्चा देश प्रेमी होता हैं | सच्चा देश भक्त महत्वकांशी, ईमानदार और सत्यवादी होता हैं |

स्वदेश प्रेम का क्षेत्र

देश का हर एक व्यक्ति किसी भी क्षेत्र में कार्य करता होगा लेकिन वो अपने देश से बहुत प्यार करता हैं | भारतीय जवान हमेशा अपने देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों की बाजी लगा देते हैं |

कई लोग राजनेता बनकर तो कई समाज सुधारक, तो कोई किसान बनकर तो कोई साहित्यकार बनकर अपने देश की सेवा करते हैं | उनमे मन में अपने स्वदेश के लिए प्रेम की भावना होती हैं |

हर व्यक्ति का कर्तव्य

हर एक व्यक्ति देश का नागरिक होता हैं | हर एक व्यक्ति जिस देश में जन्म लेता हैं और बड़ा होता हैं | जिस मिटटी में वो खेलता कूदता हैं वो उसकी भारत भूमि होती हैं |

उस देश की रक्षा करना हम सभी का कर्तव्य होता हैं | हर एक नागरिक को अपने स्वदेश के लिए त्याग की भावना होनी चाहिए  और उस देश की रक्षा करनी चाहिए |

महान सुधारक

देश के कई सारे महान नेताओं ने भी अपने जीवन का बलिदान दिया हैं | वो हमेश अपने स्वदेश के लिए लढते रहे | उन्होंने अपने देश के लिए अपने पुरे जीवन का त्याग किया हैं | उनके मन में अपने देश के प्रति प्यार की भावना थी |

निष्कर्ष :

हम सभी को अपने देश की रक्षा करनी चाहिए | और अपने देश के विकास के लिए प्रयत्न करना चाहिए | जो व्यक्ति जिस देश में जन्म लेता हैं , वो उसका सबकुछ होता हैं | इसलिए हर एक देशवासियों को अपने देश की सेवा करनी चाहिए | और अपने देश का स्वरुप बदलना होगा |

Updated: March 22, 2019 — 4:51 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *