गर्मी की छुट्टी पर निबंध कक्षा २ के लिए – पढ़े यहाँ Summer Vacation Essay In Hindi For Class 2

प्रस्तावना:

ग्रीष्म ऋतु में छुट्टियां यह गर्मी की छुट्टियां के दौरान होती हैं | इस समय हर एक स्कूल और कॉलेज बंद हो जाते हैं | सभी बच्चे छुट्टी मिलने पर बहुत खुश हो जाते हैं | उनको एक – देढ महीने तक स्कूल में प्रवेश नहीं करना पड़ता हैं |

इस छुट्टी का इंतजार बच्चे बेसब्री करते हैं | कई सारे लोग गर्मी की छुट्टी मनाने के लिए पिकनिक प्लान बनाते हैं, तो कोई नाना – नानी के घर पर जाता हैं |

स्कूल की छुट्टी   

Essay On My School in Hindiमेरा स्कूल १५ मई को बंद हो गया | मैंने सबसे पहले घर जाने का प्लान बनाया था | स्कूल बंद होते ही मैंने अपना सामान बांधा और सहारनपुर जाने के लिए गाड़ी पकड ली |

शाम के समय में अपने घर पहुँचा और मेरी माँ मुझे देखते ही बहुत खुश हो गयी | मेरी माँ ने मुझे छाती से लगा लिया | मैं मेरे भाई और बहनों से मिलकर बहुत खुश हो गया |

दोस्तों के साथ

उसके दुसरे दिन मेरे बहुत सारे दोस्त मेरे से मिलने आये | शाम के समय हम सभी घुमने के लिए गए | इस गर्मी की छुट्टी में बहुत सारा पढाई – लिखाई का काम मिला था | सुबह के समय में अपनी पढाई पूरा करता था |

इस पढ़ाई को पूरा करने के लिए कम से कम एक सप्ताह लग गया | मुझे घर आते कब १०- १५ दिन बीत गए पता ही नहीं चला | १५ वे दिन मेरे भाई का पत्र मिला | उस पत्र में मेरे भाई ने मुझे आगरा आने के लिए कहाँ |

आगरा का नाम सुनके मुझे बहुत ख़ुशी हुई | लेकिन वहाँ बहुत गर्मी पड़ती हैं | आगरा का ताजमहल यह अन्य ऐतिहासिक स्थलों में से बहुत ही सुंदर ईमारत हैं | मैं उसी दिन आगरा जाने के लिए रवाना हो गया | मैं सुबह के समय आगरा पहुँच गया |

आगरा (सुंदर स्थल)

मैं अपने भाई के घर पर कई दिन रहा था | हम सुबह के समय घुमने के लिए निकलते थे और शाम के समय घर आते थे | ताजमहल और अन्य दर्शनीय स्थलों को देखने के लिए हमें कई दिन लग गए |

ताजमहल की सुंदरता मुझे बहुत मनमोहित लगी | उस ताजमहल की सुंदरता मैं अपने शब्दों में नहीं बता सकता | यह ताजमहल सफ़ेद संगमरमर पत्थरों से बना हुआ हैं | यह ताजमहल शाहजहाँ ने अपनी प्रिय रानी मुमताज महल के प्यार की याद में बनाया था |

मुझे जून महीने के मध्य तक अपने घर सहारनपुर में लौटना पड़ा | मेरी माँ कुछ दिन के लिए अपने मायके जाना चाहती थी | वो मुझे लेकर नानाजी के घर पे गयी |

नानाजी हम दोनों को देखकर बहुत खुश हो गए | मेरे नानाजी ने और मैंने बहुत सारी बाते की | अब मेरा स्कूल शुरू होने वाला था | इसलिए मैं अपने मम्मी को वहाँ पर छोड़ के चला आया |

निष्कर्ष:

जुलाई का महिना शुरू हो गया और १७ जुलाई को मेरा स्कूल खुलने वाला था | मैंने अपनी बाते भुलाकर अगले साल के लिए तैयारी करनी शुरू कर दी | गर्मी का समय समाप्त हो गया | गर्मी की छुट्टियों की यादे मुझे आज भी याद हैं |

Updated: May 18, 2019 — 5:55 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *