हिंदी में दिवाली पर छोटा निबंध – पढ़े यहाँ Small Essay On Diwali In Hindi

प्रस्तावना :

दिवाली भारत का प्रमुख और प्रसिद्द त्यौहार है | दिवाली के त्यौहार को भारत में हर साल बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है | दिवाली का ‘दीपावली’ भी कहा जाता है, यह हिन्दुओं द्वारा मनाया जानें वाला सबसे बड़ा त्यौहार है |

दिवाली का त्यौहार भारत में मनाये जानें वाले त्योहारों में सबसे लोकप्रिय और महत्वपूर्ण है | दीपावली का मतलब होता है – दीपों की अवली यह त्यौहार मुख्य रूप से हिंदुओं का त्यौहार है लेकिन इसे सभी धर्मों के लोग बहुत ही खुशियों के साथ मनाते हैं |

दिवाली का त्यौहार हिन्दू पंचांग के अनुसार कार्तिक माह की अमावस्या के दिन मनाया जाता है | अमावस्या के अँधेरी रात जगमग असंख्य दीपों से जगमगानें लगती है | दिवाली का त्यौहार मनाने के पीछे अनेक संस्कार, परम्पराएँ और सांस्कृतिक मान्यताएँ भी हैं |

दिवाली का त्यौहार हर साल खुशियाँ लेकर आता है | यह त्यौहार साल में एक बार आता है जो की अक्टूबर और नवंबर का महीना होता है | दिवाली दीपों का त्यौहार और बुराई पर अच्छाई की जीत का त्यौहार है |

दिवाली के त्यौहार को आहूत ही धूमधाम से मनाया जाता है | कहा जाता है की इस दिन भगवान श्री राम ने रावण को पराजित करके और १४ साल का वनवास काटकर अयोध्या लौटे थे |

भगवान श्री राम के आने के खुशी में अयोध्यावासियों ने पुरे नगर में घी से दिया जलाया था | तभी से इस दिन को हर साल दिवाली के रूप में मनाया जानें लगा |

दिवाली का यह त्यौहार बुराई पर सच्चाई के जीत का प्रतिक माना जाता है | साथ ही सिखों के छठवें गुरु श्रीहर गोविंद जी के रिहाई की खुशी में भी मनाया जाता है, जब ग्वालियर के जेल से जहाँगीर द्वारा उन्हें छोड़ा गया |

दिवाली आने के एक महीनें पहले से ही लोग घरों की रंगाई और पुताई करना शुरु कर देते हैं | बाजारों को भी दुल्हन की तरह सजा दिया जाता है | दिवाली के दिन बाजारों में भी बहुत भीड़ होती है | बच्चे मिठाइयाँ, कपडे और पटाखे खरीदते हैं |

दिवाली के कुछ दिन पहले ही लोग अपने घरों को साफ-सफाई के साथ बिजली की लड़ियों से रोशन कर देते हैं | घरों में अच्छे-अच्छे पकवान जैसे करंजी, चकली, चिवड़ा और मिठाइयाँ आदि बनाये जाते हैं | महिलाये घर के आँगन में रंगोली निकलती है | देवी लक्ष्मी की पूजा के बाद आतिशबाजी का दौर शुरू होता है |

दिवाली के दिन आसमान रोशनी से जगमगा उठता है | इसलिए इसे रोशनी का त्यौहार कहा जाता है | इस दिन लोग नये कपडे खरीदते हैं और उपहार में मिठाइयाँ बांटते हैं | दिवाली के दिन पुरे भारत को दुल्हन की तरह सजाया जाता है | सभी अपने दोस्तों और पड़ोसियों को मीठाई और उपहार देते हैं |

Updated: February 1, 2020 — 11:06 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *