गाँधी जयंती पर निबंध – पढ़े यहाँ Short Essay On Gandhi Jayanti In Hindi

प्रस्तावना:

गांधी जयंती या दिवस हमारे देश के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के जन्म दिवस के रूप में मनाया जाता हैं | पुरे देश में यह दिवस राष्ट्रीय त्यौहार और अहिंसा दिवस के रुप में मनाते हैं | यह त्यौहार पुरे उत्साह और ख़ुशी के साथ मनाया जाता हैं |

महात्मा गांधी ने स्वतंत्रता संग्राम में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया हैं | यह सत्य, अहिंसा के सच्चे पुजारी थे | सत्य और अहिंसा के माध्यम से उन्होंने अंग्रेजों को भारत देश छोड़ने को मजबूर किया | इन्हें सभी लोग राष्ट्रपिता के रूप में बुलाते थे |

महात्मा गाँधीजी का जन्म

महात्मा गांधीजी का जन्म २ अक्टूबर, १८६९ को गुजरात के पोरबंदर नामक स्थान पर हुआ था | का जन्म दिवस हर साल गाँधी जयंती के रूप में मनाया जाता हैं |

इस दिन स्कूल, कॉलेज, सरकारी कार्यालय, बैंक बंद रहते हैं और सारी तैयारी के साथ सभी लोग मनाते हैं |

गांधी जयंती का महत्व

महात्मा गाँधीजी के जन्मदिवस का विशेष महत्व होता हैं | गाँधी जयंती यह दिवस देश के सभी लोगों को उनके व्यक्तित्व की विशेषता को याद दिलाता हैं |

इस दिन बड़ो से लेकर छोटे बच्चों तक उनको याद करते हैं और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पण करते हैं | हमारे भारत देश की राजधानी दिल्ली में राजघाट पर महात्मा गाँधी का समाधिस्थल हैं |

भजनों का गायन

गाँधी जयंती के दिवस पर उनके प्रिय भजनों का गायन किया जाता हैं | “वैष्णव जन तो तेने कहिए जो पीर पराई जाने रे” यह भजन उनका अत्यंत प्रिय भजन हैं |

गांधी जी राम में रहीम और रहीम में राम का दर्शन करते हैं | भजनों में उनके विचारों को याद किया जाता हैं | सभी लोग गांधीजी के आदर्शों को याद करते हैं |

स्कूल और कॉलेज में गांधी जयंती

२ अक्टूबर को महात्मा गाँधी जयंती निमित्त स्कूल और कॉलेज में गांधीजी के फोटो को सजाया जाता हैं और अन्य छात्रों के द्वारा भाषण किया जाता हैं | गाँधी जयंती इस दिन स्कूल और कॉलेज में अन्य प्रतियोगिताएं का भी आयोजन किया जाता हैं |

इस दिवस के अवसर पर निबंध लेखन, प्रश्न – उत्तर प्रतियोगिता, चित्रकला, कविता पाठ इ परियोगिता आयोजित की जाती हैं इस दिन जो विद्यार्थी प्रतियोगिता में सबसे अच्छा प्रदर्शन करता हैं उसे सबसे श्रेष्ठ इनाम दिया जाता हैं |

स्वतंत्रता में योगदान

महात्मा गांधीजी ने स्वराज्य को प्राप्त करने के लिए बहुत अच्छा कार्य किया हैं | उन्होंने किसानों की आर्थिक स्थिति में बदलाव किये हैं और अस्पृश्यता जैसी सामाजिक समस्याओं को दूर किया हैं | उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई हैं |

निष्कर्ष:

महात्मा गाँधी यह हमारे देश के राष्ट्रपिता और एक महान देशभक्त थे | उन्होंने भारत देश के लिए अपने प्राणों का बलिदान दिया हैं |

देश के लिए उनका बलिदान हम कभी नहीं भूलेंगे | हमेशा उन्होंने सत्य और अहिसा के रह पर चलकर अपना जीवन देश के लिए कुर्बान कर दिया हैं | महात्मा गांधीजी का नाम आज भी हमारे देश इतिहास के पन्नों पर अजरामर हैं |

Updated: May 23, 2019 — 6:57 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *