पृथ्वी बचाओ पर निबंध कक्षा ५ के लिए – पढ़े यहाँ Save The Earth Essay In Hindi For Class 5

प्रस्तावना:

पृथ्वी यह एक ऐसा ग्रह हैं जिस पर मनुष्य के लिए हर एक चीज मिल जाती हैं | इन सभी ग्रहों में से इस पृथ्वी पर मनुष्य का सबसे ज्यादा निवास हैं |

मानव जाती को इस धरती पर से बहुत कुछ मिल जाता हैं, उसका मनुष्य को सम्मान करना चहिये और पृथ्वी की रक्षा करनी चाहिए |

संसाधन संपत्ति

मनुष्य इस प्रकृति से हवा, जल, नदी, पहाड़, पर्वत, वन और खनिज संपत्ती मिल जाती हैं | इन सभी चीजों का उपयोग मनुष्य अपने दैनंदिन जीवन में करता हैं | यह सब चीजे उसे एक उपहार के रूप में मिलती हैं |

पेड़ों की कटाई

इस धरती पर पेड़ – पौधे अन्य प्रकार के प्रदुषण को रोकने का कार्य करते हैं | मनुष्य को पेड़ों के द्वारा ऑक्सीजन और शुद्ध हवा मिलती हैं | पेड़ मनुष्य को फल, फुल प्रदान करते हैं | लेकिन मनुष्य अपने स्वार्थ के लिए इन पेड़ों की कटाई करता हैं |

उसके कारण हर मुसीबत का सामना करना पड़ता है | इसलिए मनुष्य को पेड़ों को काटना नहीं चाहिए बल्कि उनकी रक्षा करनी चाहिए | मनुष्य को इस धरती पर ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने चाहिए |

जल की बर्बादी

जल यह मनुष्य के जीवन में सबसे ज्यादा जरुरी हैं | इसके बिना कोई भी इंसान जी नही सकता हैं | जल का उपयोग मनुष्य हर एक कार्य में करता हैं |

लेकिन कभी कभी मनुष्य जल को बर्बाद कर देता हैं | इसलिए उसे जल का उपयोग तथा आवश्यकता के अनुसार करना चाहिए | जल को बचाके रखना चाहिए | उसकी बर्बादी नही करनी चाहिए |

प्रदुषण को रोकना

इस प्रकृति के साथ मनुष्य खिलवाड कर रहा हैं | अपनी सुख सुविधाओं के लिए मनुष्य प्रकृति को नुकसान पहुँचा रहा हैं | इसके कारण प्रकृति का संतुलन बिगड़ रहा हैं |

अन्य प्रकार के प्रदुषण के कारण पूरा पर्यावरण दूषित हो रहा हैं | इसके कारण वन्य जीवों की प्रजाति भी नष्ट हो रही हैं | इसलिए धरती माता को सुरक्षित रखने के लिए अन्य प्रकार के प्रदुषण को रोकना बहुत जरुरी हैं |

पृथ्वी संरक्षण दिवस

देश के सभी लोगों में जागरूकता फ़ैलाने के लिए हर साल २२ अप्रैल को पृथ्वी दिवस मनाया जाता हैं | यह दिवस प्राकृतिक पर्यावरण को बनाके रखने के लिए सभी लोगों को प्रोत्साहित करता हैं | इसलिए यह दिवस पुरे देश में मनाया जाता हैं |

निष्कर्ष:

मनुष्य बहुत मेहनत करके धन कमा सकता हैं, लेकिन कभी वो प्रकृति को वापस नहीं पा सकता हैं | पृथ्वी यह हमारे घर की तरह है इसलिए उसकी रक्षा करना हर एक मनुष्य की जिम्मेदारी हैं | हम सभी को प्रकृति के संसाधनों को बर्बाद और दूषित नहीं करना चाहिए |

Updated: April 12, 2019 — 12:09 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *