गंगा नदी पर निबंध – पढ़े यहाँ River Ganga Essay In Hindi

प्रस्तावना:

गंगा यह भारत देश की सबसे पवित्र और मुख्य नदी हैं | इस पवित्र नदी को आस्था का प्रतिक माना जाता हैं |

गंगा नदी भारत देश की सबसे महिमामय नदी हैं |  इस नदी को पूज्यनीय भी माना जाता हैं | गंगा नदी को केवल नदी ही नही माना है बल्कि यह एक संस्कृति भी हैं |

गंगा नदी का उगम

गंगा नदी यह दक्षिण एशिया भारत और बांग्लादेश इन दो देश में से निकलती हैं | उसका उगम स्थल ‘गंगोत्री’ हैं | यह नदी हिमालय से निकलती हैं और बंगाल की खाड़ी में विसर्जित हो जाती हैं |

गंगा नदी के नाम

गंगा नदी को भगीरथी कहा जाता हैं | इस नदी को यह नाम राजा भागीरथ के नाम पर पड़ा हैं | भारत देश में इस नदी को ‘गंगा मैया’ नाम से जाना जाता हैं | गंगा नदी को मंदाकिनी, देवनदी, भगीरथी इत्यादि. उपनामों से जाना जाता हैं |

गंगा नदी का विस्तार

यह नदी लगभग २५१० किमी हैं | गंगा नदी यह बहुत लम्बी हैं | इस नदी के गोद में इलाहाबाद और वाराणसी इत्यादि बसे हुए हैं | यमुना यह नदी गंगा नदी की उपनदी हैं | गंगा नदी के अन्य स्थानों पर लम्बे पुल भी बनाये गए हैं |

गंगा नदी की पवित्रता

गंगा नदी को सबसे पवित्र माना गया हैं | हिन्दू धर्म के अनुसार माना जाता हैं की, गंगा नदी में स्नान करने से सारे पाप धुल जाते हैं | इस नदी के पानी की पवित्रता के कारण हर शुभ कार्य में इसका उपयोग किया जाता हैं |

हजारो लोग ‘मकर संक्रांति’ के दिन इस गंगा नदी में स्नान करने के लिए जाते हैं | इस नदी को बहुत शुद्धता और पवित्र माना गया हैं | गंगा नदी को भारतीयों की ‘जीवनदायिनी’ कहाँ गया हैं |

गंगा जल की विशेषता

गंगा जल कभी भी दूषित नही होता हैं | इस गंगा जल का उपयोग पूजा पाठ में किया जाता हैं | गंगा नदी का जल बोतल में रखने से कभी कीटाणु नहीं जम जाते हैं | गंगा नदी के बिखरी स्वच्छ मिट्टी का उपयोग दांत दर्द के लिए किया गया हैं | यह इस गंगा नदी की विशेषता हैं |

प्राचीन ऐतिहासिक नगरी

गंगा नदी के किनारे पाटलीपुत्र (पटना), काशी, कन्नौज, बलरामपुर इत्यादि. प्राचीन एतिहासिक और आधुनिक नगरे स्थित हैं |

गंगा नदी का महत्व 

हमारे देश में यदि गंगा नहीं होती तो हमारे देश का एक महत्वपूर्ण भाग रेगिस्तान और बंजर हो जाता |

इसलिए गंगा नदी को उत्तर भारत की सबसे पवित्र नदी हैं | इस गंगा नदी का बहुत धार्मिक महत्व है | यहाँ पर हर एक साल में कुंभ मेला लगता है |

निष्कर्ष:

गंगा नदी को भारत वासी अपनी माँ की तरह पूजते हैं | यह नदी भारतीय संस्कृति का एक बहुत बड़ा हिस्सा हैं | इस नदी का भारत देश के प्राचीन ग्रंथों में उसकी पवित्रता का वर्णन किया हैं | जैसे की वेदों में, महाभारत और पुराण इत्यादि |

Updated: April 1, 2019 — 6:27 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *