प्लास्टिक प्रदूषण पर निबंध – पढ़े यहाँ Plastic Pollution Essay In Hindi

प्रस्तावना:

पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने के लिए जिम्मेदार | उन सभी कारणों में से प्लास्टिक यह पर्यावरण को बहुत नुकसान पहुँचाता हैं | मानव अन्य प्रकार की प्लास्टिक वस्तुओं का उपयोग अपने जीवन में करता हैं |

प्लास्टिक प्रदुषण यह प्लास्टिक कचरे के कारण निर्माण होता हैं | आज के समय में इस प्लास्टिक ने अपना विकराल रूप धारण किया हैं | प्लास्टिक प्रदुषण हर दिन बढ़ते ही जा रह हैं | जिसकी वजह से मनुष्य को अपना जीवन जीना बहुत मुश्किल हो गया हैं |

प्लास्टिक का निर्माण

प्लास्टिक को बनाने के लिए जहरीले केमिकल का उपयोग किया जाता हैं | यह प्लास्टिक जहाँ पर भी पड़ा रहता हैं वहाँ पर अन्य बीमारी और प्रदुषण को जन्म देता हैं | प्लास्टिक एक नान बायो-डिग्रेडबल पदार्थ हैं, यह पदार्थ विघटित नहीं होता हैं |

इसको जलाने से बहुत हानिकारक प्रभाव होता हैं | यह कई सालों तक रहता हैं | जिसकी वजह भूमि प्रदुषण वायु आयर जल प्रदुषण भी हो जाता हैं | यह सभी पेड़ – पौधों और मनुष्य के लिए भी घातक होता हैं |

प्लास्टिक का उपयोग

मनुष्य ने अपनी सुख – सुविधाओं के लिए अन्य साधनों का विकास किया हैं | इस प्लास्टिक का उपयोग मनुष्य अपने दैनंदिन जीवन में करता हैं | मनुष्य जब किसी भी दुकान पर वस्तु खरीदने के लिए जाता हैं तो कपडे या कागज की थैली नहीं लेकर जाता हैं |

जिसकी वजह से बेचने वाला विक्रेता उसे प्लास्टिक की थैली में समान भर के देता हैं | जिसके कारण आज उसकी मात्र बहुत बढ़ गयी हैं |

प्लास्टिक के दुष्परिणाम

प्लास्टिक की वजह से बहुत सारा दुष्परिणाम सभी सजीव सृष्टी पर पड़ता हैं | प्लास्टिक के कारण दुष्परिणाम –

जल प्रदुषण

प्लास्टिक बहुत हानिकारक केमिकल से बनाया जाता हैं जो कई सालों तक नष्ट नहीं होता हैं | आज यह जल प्रदुषण का कारण बन रहा हैं | मनुष्य हर एक वस्तु का निर्माण प्लास्टिक द्वारा ही कर रहा हैं |

पानी पिने के लिए प्लास्टिक की बोतल, खाना खाने के लिए चम्मच, टूथ ब्रश, कई सारी वस्तु पैकिंग करने के लिए प्लास्टिक का उपयोग करता हैं | बच्चों को खेलने के लिए खिलौने भी प्लास्टिक के तैयार किये जाते हैं |

मनुष्य ऐसी वस्तुओं का निर्माण करता हैं, जो एक बार काम करने के बाद फेक दी जाती हैं | फेकी गयी वस्तु जब बारिश होती हैं तब पानी के साथ बहके नदी – नाले या समुन्दर में चली जाती हैं | प्लास्टिक थैलीयों की वजह से नदी – नाले रुक जाते हैं |

समुद्री जीवों पर दुष्प्रभाव

प्लास्टिक थैलियों का सबसे ज्यादा परिणाम समुद्री जीवों पर होता हैं | सबसे ज्यादा प्लास्टिक महासागरों में पाया जाता हैं | समुद्री जीव प्लास्टिक को खाना समझकर खाते है, जिसके कारण उनकी मृत्यु हो जाती हैं | इसकी वजह से समदरी जीवों की संख्या कम होती जा रही हैं |

प्लास्टिक प्रदुषण को रोकने के उपाय

मनुष्य को प्लास्टिक का उपयोग कम करना चाहिए |

प्लास्टिक थैली की जगह पर कपडे या कागज की थैली का इस्तेमाल करना चाहिए |

कोई भी वस्तु खरीदने के लिए जाये तो प्लास्टिक की थैली लेकर जानी चाहिए |

प्लास्टिक के दुष्प्रभाव के बारे में सभी लोगों में जागरूकता फैलानी चाहिए |

निष्कर्ष:

प्लास्टिक प्रदुषण यह एक बहुत बड़ी समस्या बन गयी हैं | इस समस्या को दूर करने के लिए सभी लोगों को प्रयास करना चाहिए | इसे रोकने के लिए अपना बहुमूल्य योगदान देना चाहिए |

Updated: May 16, 2019 — 6:24 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *