भारत के राष्ट्रीय पर्व पर निबंध – पढ़े यहाँ National Festivals Of India Essay In Hindi

प्रस्तावना:

हमारा भारत देश यह एक विविधता वाला देश हैं | हमारे भारत देश में विविध धर्म और जाती, वेशभूषा, संप्रदाय के लोग रहते हैं | हर एक धर्म के त्यौहार अलग – अलग हैं |

यह त्यौहार हर किसी के जीवन में नई चेतना, उमंग और ख़ुशी लेकर आते हैं | हमारे देश में अन्य प्रकार के त्यौहार मनाये जाते हैं |

उन सभी त्योहारों में से तीन त्यौहार राष्ट्रीय त्यौहार के रूप में मनाये जाते हैं | यह राष्ट्रीय त्यौहार हर जाती और धर्म के लोग बहुत ख़ुशी और उत्साह के साथ मिल – जुलकर मनाते हैं |

भारत के राष्ट्रीय पर्व

हमारे भारत देश को आज़ादी मिलने के बाद राष्ट्रीय पर्व हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गए |

उस समय लेकर आज तक यह त्यौहार बहुत उत्साह के साथ मनाये जाते हैं | भारत देश के राष्ट्रीय त्यौहार सभी लोगों में एकता और भाईचारे को जीवन में आगे बढ़ना सिखाते हैं | भारत देश के राष्ट्रीय पर्व

स्वतंत्रता दिवस (१५ अगस्त)

१५ अगस्त, १९४७ को को हमारे भारत देश को ब्रिटिश सरकार से कई सालों के बाद स्वतंत्रता प्राप्त हुई थी | स्वतंत्रता यह दिवस सभी भारतीय लोगों को आज़ादी के दिन का याद दिलाता हैं |

इसलिए सभी लोग स्वतंत्रता दिवस को आज़ादी के ख़ुशी के रूप में मनाते हैं | इन दिन भारत देश की राजधानी दिल्ली में लाल किले पर देश के प्रधानमंत्री के द्वारा ध्वजारोहण किया जाता हैं | देश के तिरंगे को २१ तोपों की सलामी दी जाती हैं |

देश के शूरवीर जवानों को श्रद्धांजलि अर्पण की जाती हैं | इस देश के लिए महान स्वतंत्रता सेनानियों ने अपने प्राणों का बलिदान दिया हैं | उन्हें इस दिन याद किया जाता हैं | इस दिन भारतीय तीन सेनाओं के द्वारा अपने ताकत का प्रदर्शन किया जाता हैं | यह स्वतंत्रता दिवस हम सभी भारतीय लोगों के लिए भाग्यशाली दिवस हैं |

गणतंत्र दिवस (२६ जनवरी)

२६ जनवरी, १९५० को हमारे देश को गणतांत्रिक देश घोषित किया था | यह दिन साल गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता हैं | हमारे भारत के इतिहास में इस दिन को सबसे महत्वपूर्ण माना जाता हैं |

इस दिन से हमारे देश का भारतीय संविधान लागु हुआ था | इस संविधान के अनुसार भारत के हर एक नागरिक को उसका अधिकार और हक्क दिया गया हैं |

महात्मा गाँधी (२ अक्टूबर)

पुरे देश में २ अक्टूबर यह दिवस हमारे देश के राष्ट्रपिता महात्मा गाँधीजी के जन्म दिवस को गाँधी जयंती के रूप में मनाया जाता हैं | इनका जन्म २ अक्टूबर, १८६९ गुजरात के पोरबंदर में हुआ था |

उन्होंने अपना पूरा जीवन देश को आज़ादी दिलाने के लिए समर्पित किया | उन्होंने सत्य, अहिंसा का मार्ग अपनाकर भारत देश को आज़ादी प्राप्त करके दी |

निष्कर्ष:

हमारे जीवन में इन तीनों राष्ट्रीय पर्वों का विशेष महत्त्व हैं | भारत के राष्ट्रीय पर्व हमें देशभक्ति की भावना और हम सभी लोगों में एकता लाने का कार्य करते हैं |

यह पर्व अस्मिता, स्वाभिमान और स्वतंत्र का प्रतीक हैं | यह तीन पर्व हमारे जीवन में उत्साह और राष्ट्रीय चेतना का संचार करते हैं |

Updated: May 14, 2019 — 10:26 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *