मेरा भारत महान पर निबंध – पढ़े यहाँ My India Is Great Essay In Hindi

प्रस्तावना :

मेरा भारत देश बहुत महान है | इस दुनिया में क्षेत्रफल के दृष्टिकोण से भारत देश का सातवा क्रमांक लगता है और लोकसंख्या में भारत देश का दूसरा क्रमांक लगता है | भारत देश एक बहुत बड़ा देश है |

इस देश की विविधता और संस्कृति अलग है | यह देश खाली नाम से ही बड़ा नही है इस देश की मिटटी की महानता कुछ अलग ही है | इस मिटटी को हर कोई व्यक्ति मिटटी नही समझता उस भारतभूमी अपनी माँ समझता है |

भारत नाम की उन्नति

इस भारत देश को भारत यह नाम सूर्यंवंशी राजा ‘भरत’ के नाम से पड़ा है | इस देश का सबसे पुराना नाम आर्यव्रत था | इस देश को कई नामो से जाना जाता है | भारत देश को हिन्दुस्थान, इण्डिया इ नाम से जानते है |

स्वतंत्रता प्राप्ति

इस भारत देश को १५ अगस्त, १९४७ को स्वतंत्रता मिली थी | भारत देश पर पहिले ब्रिटिश सरकार का राज्य था | सभी भारतियों को गुलामगिरी का जीवन जीना पड़ता था |

इस देश को आज़ादी मिलने के लिए महान नेताओं ने अपने प्राणों का बलिदान दिया है | और यह भारत देश १५ अगस्त १९४७ को ब्रिटिश सरकार के गुलामगिरी से मुक्त हो गया है |

मुख्य नदिया

इस भारत देश में पर्वत, पठारे, नदिया, सरोवरे, झीले इ का समावेश है | गंगा, यमुना, ब्रह्मपुत्र और कावेरी यह इस देश की प्रमुख नदिया है | गंगा जैसी पवित्र नदी इस देश में बहती है |

अलग अलग धर्म के लोग

इस देश में अलग अलग धर्म और जाती के लोग रहते है | हर एक धर्म की संस्कृति होती है | यह धार्मिक विविधता वाला देश है | इस देश में हिन्दू, मुस्लिम, शीख, जैन इ धर्मो के लोग रहते है | इस देश को धर्मनिरपेक्ष देश भी कहा जाता है | इन लोगो में अनेकता में एकता भी दिखाई देती है |

कृषि प्रधान देश

भारत देश को कृषिप्रधान देश माना गया है | इस देश का हर एक किसान दिन रात मेहनत करके अपनी उपजीविका करता है | इस देश मुख्य व्यवसाय खेती है |

यहाँ पर अलग अलग चीजों की, जैसे चावल, गेहू, जुट और गन्ना और अन्य प्रकार की खेती की जाती है | इसलिए इस देश को कृषिप्रधान देश कहा गया है |

निष्कर्ष :

इस देश की सुन्दरता और महानता बहुत बड़ी है | जो लोग अपने इस देश को अपने माँ के समान मानेंगे तो यह देश या भारतभूमि सच में बहुत महान होगी | सभी लोग अपने अपने देश से बहुत प्यार करते है | इसलिए मेरा भारत देश महान है और हमेशा महान ही रहेगा |

Updated: March 11, 2019 — 2:23 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *