मेरा घर पर निबंध – पढ़े यहाँ My House Essay In Hindi For Class 5

प्रस्तावना:

हर इंसान को रहने के लिए घर की जरुरत होती है | इसलिए हर इंसान के पास अपना खुद का घर होता है | घर यह एक सबसे अच्छी जगह होती है | हर इंसान अपने घर से बहुत प्यार करता है |

किसी का घर छोटा तो किसी का घर बड़ा होता है | लेकिन सभी लोग अपने – अपने घर से बेहद प्यार करते है | इसलिए घर एक प्यार, देखभाल और एक दुसरे के मेल – मिलाप का प्रतिक माना गया है |

परिवार

मेरा घर सबसे सुंदर है | मुझे मेरा घर बहुत पसंद है | मेरे घर में सभी लोग प्रेमभाव और प्यार से रहते है | मेरा घर सबसे बड़ा घर है |

मेरे घर में दादा – दादी, चाचा – चाची, मम्मी – पापा, भाई और चाचा का एक लड़का और लड़की इत्यादि. लोग रहते है | मेरा घर दिखने में बहुत बड़ा है |

घर की रचना

मेरे घर सभी लोगो के लिए अलग – अलग कमरे बनाये गए है | इन कमरों में से एक कमरा जो है वो पूजा घर है | हमारे दादाजी हर दिन भगवान की पूजा करते है | मेरे घर में एक छोटासा पुस्तकालय भी है |

मेरे दादाजी को पुस्तके पढ़ने का बहुत शौक था | इसलिए उन्होंने हमारे लिए बहुत सुंदर सुंदर पुस्तके पढने के लिए राखी थी |

बगीचा की सुंदरता

मेरे घर के सामने एक बहुत बड़ा आँगन है | उस आँगन में एक तुलसी मैया का पेड़ लगा हुआ है | उस पेड़ की हर दिन पूजा की जाती है | मेरे घर के बाहर एक छोटासा बगीचा बना हुआ है |

उस बगीचे में अन्य प्रकार के पेड़ पौधे है | बगीचे में सुंदर सुंदर फुल और हरी घास लगी हुई है | बगीचा मेरे घर की सुंदर ता और बढ़ा देता है | मेरे घर के सभी लोग पौधों को हर दिन पानी देते है |

निष्कर्ष:

मुझे मेरा घर बहुत अच्छा लगता है | मुझे मेरे घर से बहुत प्यार मिलता है | सभी लोग मुझे बहुत प्यार करते है |

हमारे घर से हमें बहुत आनंद मिलता है | हम सभी के लिए हमारा घर ही एक सुखी संसार है | इसलिए मुझे मेरे घर पर गर्व है | मेरा घर सबसे प्यारा घर है |

Updated: December 10, 2019 — 8:29 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *