मेरा भारत महान पर निबंध हिंदी में – पढ़े यहाँ My Great India Essay In Hindi

प्रस्तावना:

मेरा भारत देश विश्व में सबसे बड़ा देश है। भारत देश एक महत्वपूर्ण कृषि प्रधान देश है। भारत का पुराना नाम (आर्यावर्त) था। भारत देश को (हिन्दुस्थान) भी कहा जाता है। पुरातन युग में आर्यो लोगो का मूल निवास होने के कारण भारत देश को आर्यवर्तनाम से पुकारा जाता था। राजा दुष्यंत के प्रतापी पुत्र भरत के नाम पर ही हमारे देश का नाम भारत पड़ा है। हर व्यक्ति को अपने भारत देश पर गर्व है। इस भारत भूमि पर महापुरुषों, ज्ञानियों और सन्यासियों ने जन्म लेकर इस भारत को महान बनाया है।

इस देश में बहुत सारे अलग अलग जात और धर्म के लोग रहते है। भारत देश कई संस्कृतियों का केंद्र है। इस देश में हिन्दू, मुस्लिम, शीख, इसाई, पारसी अन्य समाज के लोग मिल जुलकर रहते है।  इसलिए भारत देश धर्म – निरपेक्ष देश है।  इस भारत देश का हर कोई इंसान देश के मिटटी को मिटटी नहीं समझता वो इस देश को अपनी माँ समझता  है।

भारत देश स्वतंत्रता की प्राप्ती

राष्टपिता महात्मा गाँधी जी ने अहिंसा और सत्याग्रह इस अमोघ अस्त्रों के द्वारा भारत देश को १५ अगस्त १९४७ को अंग्रजों के चंगुल से मुक्त कर लिया है। भारत देश १५ अगस्त १९४७ को स्वतंत्र हुआ है। भारत देश स्वतंत्र होने बाद उसमे बहोत सारी उन्निति हो गयी है। २६ जनवरी १९५० को भारत  संविधान लागु किया  है।  इसके संघ में २५ राज्य और ७ केंद्रशाषित प्रदेश क्षेत्र है। भारत देश का सबसे ज्यादा जनसंख्या में दूसरे नंबर पर है।

भारत देश की जनसंख्या बड़ी है। मेरे भारत देश राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा है। तिरंगा इस भारत देश की शान है। हमारे भारत देश का राष्ट्रीय चिन्ह अशोक स्तम्भ है। जन, गण, मन हमारे देश का राष्ट्रीय गान और वन्देमातरम राष्ट्रीय गीत है। भारत देश की राष्ट्रीय भाषा हिन्दी है।

पुरे विश्व में १५ अगस्त को स्वतंत्र दिन और २६ जनवरी को गणतंत्र दिन मनाया जाता है। यह दोनों राष्ट्रीय त्यौहार है। भारत देश तेजी के साथ आगे बढ़ रहा है। इस देश में लोगो को गरीबी, अशिक्षित, बेरोजगारी का मुकाबला करना पड़ रहा है। बहुत सारे विदेशी लोग भारत देश घूमने आते है।

भारत देश की विभिन्नता

हमारे भारत देश में अनेक धर्मो के लोग रहते है। इस आकर के रूप में  भारत का सातवा स्थान है। भारत देश में विभिन्न प्रांतो में अलग अलग भाषाएँ अस्तित्व  है। सब विभिन्न भाषाएँ के कारण भारत देश विविधता दर्शित हो रहा है। हमारा भारत देश विज्ञान क्षेत्र में काफी उन्नति कर चूका है।

भौगोलिक विभिन्नता

भौगोलिक दॄष्टि से भी भारत विविधता संपन्न है। इस देश में प्राकृतिक विभिन्नताए भी है। भौगोलिक विविधता में गंगा,यमुना,ब्रम्हपुत्रा  इ घाटिया है और अरवली,विंध्य,सतपुड़ा, निलगिरी इ पर्वतश्रेणिया का पठार है। भौगोलिक दॄष्टि से भारत देश में विविधता दिखाई पड़ती है। भारत देश में हिमाचल से निकली शुद्ध निर्मल जल की धाराओं से गंगा ,यमुना, ब्रम्हपुत्रा ,कृष्णा ,सतलज इस नदियों का निर्माण हुआ है।

धार्मिक विभिन्नता

भारत देश बहुत सारे धर्म के लोग रहते है। देश में विभिन्न भागो में – हिन्दू ,मुस्लिम,शीख ,इसाई ,पारसी और जैन धर्म के अनुयायी रहते है। (हिन्दू धर्म) भारत का सर्वाधिक प्राचीन धर्म है।

इन सब कारणों की वजह से मेरा भारत देश बहुत महान है।

Updated: February 25, 2019 — 11:57 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *