मेरा प्रिय पुस्तक पर निबंध – पढ़े यहाँ My Favorite Book Essay In Hindi

प्रस्तावना:

पुस्तकों का जीवन में सबसे ज्यादा महत्व होता हैं | पुस्तके हमें अच्छी राह दिखाती हैं | पुराने समय में पुस्तके उपलब्ध नहीं थी | जब आद्योगिक क्रांति हो गयी तब अन्य सारी साधनों का विकास हुआ हैं |

छपाई कला के कारण अन्य पुस्तकों की निर्मिती हो गयी | छपाई की वजह से हर साल में हजारों पुस्तकों का प्रकाशन होने लगा | जैसे की शैक्षणिक, वैज्ञानिक, धार्मिक और अन्य प्रकार की पुस्तके छपने लगी |

मेरे दादाजी यह एक पुस्तक प्रेमी थे | उनको पुस्तके बहुत पसंद थी | उन्होंने घर में पुस्तकों का संग्रह बनाके रखा था | वहाँ पर बहुत सारी पुस्तके रखी हुई थी | लेकिन एक दिन मैं उनके रूम में गया तो मुझे मेरी नजर पंचतंत्र पुस्तक पर पड़ी |

पंचतंत्र पुस्तक

पंचतंत्र यह मूल रूप से संस्कृत में विष्णु शर्मा नामक पंडित के द्वारा लिखी गयी पुस्तक हैं | इस पुस्तक को हमारे भारतीय संस्कृति और समाज का दर्पण कहते हैं |

यह मेरा सबसे लोकप्रिय पुस्तक हैं | पंचतंत्र यह पुस्तक पूरी दुनिया में सभी भाषाओँ में उपलब्ध और प्रसिद्ध हैं | इस पुस्तक में बहुत सारी कहानियां हैं |

जैसे की पिंगलका नाम का शेर, करत और संजीव नाम के दो बैल, दमनका नमक की लोमड़ी इत्यादि जानवरों का वर्णन किया गया हैं |

इस पुस्तक में अन्य जानवर भी समाविष्ट हैं जो बुरे गुणों के लिए प्रतिनिधित्व दर्शाते हैं | इस पुस्तक से शिक्षा यह पूर्ण रूप से कहानियों के माध्यम से दी गयी हैं |

कहानियों की रचना

इस पुस्तक में कहानियों को संवाद के रूप में प्रस्तुत किया हैं | पंचतंत्र पुस्तक में ज्यादा से ज्यादा कहानिया घरेलु पात्र और आधा भाग तो वन्य जीवों पर आधारित हैं |

इन कहानियों में सच्चा मित्र कौन हैं, धूर्त लोगों की क्या पहचान होती हैं, स्वार्थी मनुष्य की कैसी दुर्गति होती हैं, छोटे लोगों को कैसे अपमानित किया जाता हैं ऐसी अन्य प्रकार की शिक्षाएँ इस कहानियों से बताई गयी हैं |

मनुष्य का आधार

पंचतंत्र इस पुस्तक को सभी लोग बहुत शौक से पढ़ते हैं | स्कूल में भी बच्चों के पाठ्य पुस्तकों में पंचतंत्र की कहानियां शामिल हैं | आज हर एक क्षेत्र में विज्ञानं ने बहुत सारा आविष्कार किया हैं | लेकिन मनुष्य आज भी अन्य समस्याओं से डरता हैं |

ऐसी स्थिति में मनुष्य को पंचतंत्र पुस्तक की सहायता लेनी चाहिए | अगर मनुष्य इस पुस्तक का आधार लेगा तो उसके शरीर में आशा का संचार हो सकता हैं | इस पुस्तक को पढने से ढोंगी, दुष्ट, निर्दयी इत्यादि मनुष्यों की पहचान हो सकती हैं और मनुष्य इनसे अपना बचाव कर सकता हैं |

निष्कर्ष:

पंचतंत्र यह पुस्तक अन्य अच्छे गुणों के कारण यह मेरे सबसे प्रिय पुस्तक हैं | पंचतंत्र पुस्तक पढने के लिए मुझे बहुत अच्छा लगता हैं | इस पुस्तक के अंत में हमें नैतिक शिक्षा प्राप्त होती हैं |

Updated: May 14, 2019 — 7:24 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *