आधुनिक नारी पर निबंध – पढ़े यहाँ Modern Women Essay In Hindi

प्रस्तावना:

हमारा देश यह पुरुषप्रधान देश हैं | पुरुष और नारी यह एक ही जीवन रूपी गाड़ी के दो पहिएं होते हैं | लेकिन हमारे समाज में नारी को सबसे ज्यादा महत्व नहीं दिया जाता था |

हमारे देश में प्राचीन समय में नारी का विशेष स्थान रहा | लेकिन इस देश में विदेशों के आक्रमण के बाद नारी की दशा चिंतादायक बन गयी | उन्हें अन्य समस्याओं का सामना करना पड़ता था |

प्राचीन नारी की स्थिति

प्राचीन समय में नारी को चार दीवारों के बीच रहना पड़ता था | उन्हें घर से बाहर भी जाने नहीं देते थे | नारियों को परिवार की जिम्मेदारी सौंपी जाती थी | उन्हें पुरुषों की तरह काम करने के लिए नहीं भेजा जाता था |

अन्य प्रथा

हमारे भारतीय समाज में अन्य प्रकार की प्रथा रूढ़ थी | जैसे की कन्या भ्रूण हत्या, दहेज़ प्रथा, सती प्रथा, बाल विवाह इत्यादि प्रथाओं का सामना करना पड़ता था |

उसकी वजह से नारी की दशा दिन पर दिन कमजोर होती जा रही थी | उनके ऊपर बहुत सारे अत्याचार किये जाते थे | नारियों पर घरेलु हिंसा भी की जाती थी |

लोगों की गलत सोच

कई लोगों की सोच थी कि, लड़का यह हमारे वंश को आगे बढ़ाने वाला होता हैं | और लड़की यह पराया घर का धन होती हैं | इसलिए कई लोग लड़की की हत्या कर देते थे |

उसका जन्म होने से पहले ही उसे गर्भ में मार देते थे | उस समय नारी को बहुत अपमानित किया जाता था | नारी को अपने अधिकारों से भी वंचित रहना पड़ता था |

समाज सुधारकों का योगदान

Essay On Mahatma Gandhi in Hindi

इस देश से अन्य प्रथाओं को दूर करने के लिए महान समाज सुधारको ने महत्वपूर्ण योगदान दिया हैं | जैसे की राजा राममोहन राय, महात्मा गाँधी इन्होंने सबसे बड़ी भूमिका निभाई हैं | इन महान लोगों की वजह से समाज में की अन्य सारी प्रथा दूर हो गयी |

आज की आधुनिक नारी

देश को आज़ादी मिलने के बाद नारी के जीवन में बहुत सारे बदलाव हो गए | नारी और पुरुष को दोनों को समान हक्क और अधिकार दिए जाने लगे | आज नारी चार दीवारों से बाहर निकलकर हर एक क्षेत्र में कार्य कर रही हैं और अपना महतवपूर्ण योगदान दे रही हैं |

आज भारतीय नारी अपने अधिकारों के खुद लढ रही हैं | पुरुषों के साथ कंधे से कंधे मिलाकर चल रही है | आज परिवार का देखभाल कर रही है और अन्य क्षेत्रों में योगदान दे रही हैं | आज उसने सिद्ध करके दिखाया हैं की, शक्ति और दृष्टी से वो पुरुषों से कम नहीं हैं |

निष्कर्ष:

नारी की वजह से आज परिवार की आधारशिला टिकी हैं | इसलिए किसी भी इंसान को नारी को कम नहीं देखना चाहिए | हर एक इंसान को नारी का सम्मान करना चाहिए | अगर हमारे देश में नारी और पुरुष इन दोनों को समान रूप से देखा जायेगा तो विश्व के सभी विकसित देशों में से एक होगा |

Updated: May 10, 2019 — 11:02 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *