लड़का – लड़की एक समान पर निबंध – पढ़े यहाँ Ladka Ladki Ek Saman Essay In Hindi

प्रस्तावना:

मनुष्य को एक सामाजिक प्राणी माना गया हैं, जो इस समाज में रहता हैं | हमारे इस समाज में दो जाती के इंसान रहते हैं – एक पुरुष और दूसरी स्त्री | एक समाज को चलने के लिए लड़का और लड़की यह दोनों का होना बहुत जरुरी हैं |

यह दोनों एक ही वाहन के दो पहिये होते हैं और दोनों साथ मिलकर इस वाहन को जीवन में आगे बढ़ाते हैं | इन दोनों को एक ही समान मानना जरुरी हैं |

इंसान की सोच

कई लोगों की सोच बहुत गलत होती हैं | जिसके कारण कई लोग लकड़ियों का तिरस्कार करते हैं | उनको पुरुषों के समान सब अधिकार नही दिए जाते हैं |

कई लोगों को लगता था की, लड़का हमारे वंश आगे बढाने वाला होता हैं और लड़की यह पराये घर की धन होती हैं | इसलिए कई लोग लड़की को गर्भ में ही खत्म कर देते थे |

अन्य प्रथा

पुराने ज़माने में कई सारी प्रथा भी रूढ़ थी | जिसके कारण लड़कियों को उसका सामना करना पड़ता था | जैसे की दहेज़ प्रथा, बाल विवाह, कन्या भ्रूण हत्या इत्यादि | इन सभी प्रथा समाज में रूढ़ थी | लड़कियों पर कई सारे अत्याचार भी किये जाते थे |

आधुनिक युग की लड़की

लड़की किसी भी लड़के से कम नही होती हैं | आज के युग में लड़कियों ने अपनी जगह प्राप्त कर ली हैं | लड़की ने अपने सारे अधिकार वापस प्राप्त किये हैं |

आज की अपने घर – परिवार के साथ देश का भी नाम रोशन कर रही हैं | लड़कियों को किसी भी रूप से कमजोर नहीं समझना चाहिए | आज की लडकिया चार दीवारों से बाहर निकलकर अपने अधिकारों के लिए खुद लढ रही हैं |

हर एक क्षेत्र में कार्य

आज की लडकिया हर एक क्षेत्र में कार्य कर रही हैं | वो पुरुषों के साथ – साथ कंधे से कंधे मिलाकर चल रही हैं | आज के समय में वो हर एक कार्य संभाल रही हैं |

पहले ज़माने में लड़की को घर में ही रहना पड़ता था | उन्हें घर से बाहर निकलने नहीं देते हैं | पहले उन्हें शिक्षा भी नहीं दी जाती थी | आज हर एक लड़की शिक्षा प्राप्त कर रही हैं |

लड़का – लड़की एक समान

आज सरकारने और समाज ने लड़का और लड़की इन दोनों को समान अधिकार और बराबरी का दर्जा दिया हैं | लड़का और लड़की यह दोनों सभी क्षेत्र में एकसाथ कार्य कर रहे हैं |

आज की लड़कियों ने साबित करके दिखाया हैं | आज के इस युग में लडकिया डॉक्टर, पुलिस, शिक्षक, पायलट इन सभी क्षेत्रों में कार्य करके अपना नाम रोशन कर रही हैं |

निष्कर्ष:

आज स्कूल में भी सभी बच्चों के लड़का – लड़की एक समान होते हैं इस बारे में पढाया जाता हैं | पुरे देश और समाज में लड़कियों को पूरा सम्मान मिलना चाहिए | लड़की के जन्म होने पर पूरी खुशियाँ मनाई जानी चाहिए | लड़का – लड़की इन दोनों के समानता के बारे में लोगों में जागरूकता फैलानी होंगी |

Updated: April 15, 2019 — 5:56 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *