मजदूर दिवस पर निबंध – पढ़े यहाँ Labour Day Essay In Hindi

प्रस्तावना :

हर इंसान को अपना जीवन जीने लिए कुछ ना कुछ काम करना बहुत जरुरी है | इसलिए वो दिन रात बहुत मेहनत करता है | जो श्रमिक लोग दिन रात बहुत कड़ी मेहनत करते है और उनके इस प्रयास और मेहनत के लिए उनको विशेष रूप से माना जाता है |

इसलिए पुरे देश में १ मई को मजदूरी दिवस मनाया जाता है | यह मजदूरी दिवस पुरे अलग – अलग देशो में मनाया जाता है | यह दिवस ज्यादा तो ‘अंतरराष्ट्रीय श्रम दिवस’ के रूप में मनाया जाता है | इसे मई दिवस भी कहते है |

मजदूर दिवस

पुरे विश्व में १ मई को मजदुर दिवस मनाया जाता है | यह दिन हर मजदूरों के हक और आज़ादी की दिन है | बहुत सालों बाद मजदूरों को यह अधिकार मिला है |

इस दिन देश में सभाए रखी जाती है | इस दिन मजदूरों का सम्मान किया जाता है | मजदूरों का समाज के जीवन में बहुत महत्व है |

मजदूरी दिवस की शुरुआत

पहले ज़माने में मजदूरों की हालत बहुत ख़राब थी | उन्हें १५ घंटा कम करना पड़ता था और बहुत मेहनत भी करनी पड़ती थी | उनको ज्यादा मेहनत करने से भी ज्यादा वेतन नही मिलता था |

हर एक मजदुर को १५ घंटे काम करना बहुत मुश्किल होता था | उनको लगातार काम करना पड़ता था इसलिए वो बीमार पड रहे थे | इसके कारण सभी मजदूरों ने इसके खिलाफ आवाज उठाया |

और इस अत्याचार के खिलाफ विभिन्न भाग के मजदूरों ने आंदोलन में सहभाग लिया | इस आंदोलन की वजह से अभी मजदूरों को ८ घंटे तक काम करने के लिए तय किया गया है |

विभिन्न नाम

अलग – अलग देश में मजदूरी दिवस को ‘कामगार दिवस’ के नाम से भी जानते है | इस दिवस भिन्न – भिन्न नाम से जाना जाता है |

इस दिवस को महाराष्ट्र में ‘महाराष्ट्र दिवस’ के रूप में मनाया जाता है | इसके कारण महाराष्ट्र को और गुजरात को राज्य का दर्जा मिला |

मजदूरी दिवस की महत्व

मजदूरी दिवस अलग – अलग रूप से मनाया जाता है | मजदुर लोगो के लिए यह एक त्योहार के दिन में मनाया जाता है | इस दिन प्रदर्शन भी किया जाता है और मजदूर एक साथ खड़े होकर कोई भी अयोग्य माँग को वो सहेंगे नही |

इस मजदूरों के बीच में एकता को बढ़ाने के लिए नेताओ के द्वारा भाषण दिए जाता है |

निष्कर्ष :

इस देश में बहुत सारे मजदूरों से बहुत काम करवाके लेते है और उनका शोषण किया जा रहा हैं | इसलिए इसके खिलाफ आवाज उठाना चाहिए और हर एक दुसरे का साथ देकर एकजूट होना चाहिए |

यह हमारे हर नागरिक का कर्तव्य है | पुरे विश्व में यह दिन मनाया जाता है | मजदूरों के लिए यह दिन बहुत मायने रखता है | दुनिया के हर कोने में मजदूरों का योगदान बहुत होता है |

Updated: March 13, 2019 — 1:36 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *