भारतीय संस्कृति पर निबंध कक्षा ५ के लिए – पढे यहाँ Indian Culture Essay In Hindi For Class 5

प्रस्तावना:

विश्व की सबसे प्राचीन और समृद्ध भारतीय संस्कृति है | पुरे विश्व में भारतीय संस्कृति को ज्यादा महत्व दिया जाता है | देश के सभी संस्कृतियों को जननी के रूप में माना जाता है |

हर मनुष्य को जीने के लिए उसके पास कोई ना कोई कला होती है | लेकिन भारतीय संस्कृति पुरे विश्व में मुख्य स्थान है | भारतीय संस्कृति पुराने काल से ही अपने अस्तित्व के साथ-साथ अमर बनी है |

संस्कृति शब्द का अर्थ –

संस्कृति किसी भी देश, जाती और समुदाय की परमात्मा होती है | संस्कृति का अर्थ प्राचीन ग्रंथो में संस्कार माना गया है | संस्कृति यह शब्द संस्कार से बना हुआ है |

विभिन्न धर्म के लोग

हमारे देश में विभिन्न जाती और धर्म के लोग रहते है | अलग-अलग धर्मों के लोग अपनी संस्कृति और परंपरा को अच्छे तरीके से निभाते है |

अन्य धर्मों के लोगो की भाषा, खाना- पीना, रीती- रिवाज इत्यादि अलग है लेकिन फिर भी वो लोग मिल जुलकर रहते है | इस देश में रहने वाले सभी लोग सभी त्यौहारों को बहुत ख़ुशी से मिलजुलकर मनाते है |

भारतीय संस्कृति में साहित्य, संगीत, नृत्यकला, नाट्यकला, चित्रकला और वास्तुकला इत्यादि कला देखने से यह पता चलता है की, भारतीय लोगो का जीवन हमेशा आनंदी रहेगा |

अनेकता में एकता

भारत देश सर्व गुण संपन्न होने के कारण भारतवासियों में अनेकता में एकता बनी हुई है | यहाँ सभी लोगो का मान सम्मान किया जाता है |

यहाँ पर सभी लोग एक दुसरे के सुख दुःख में साथ देते है | भारतीय संस्कृति यह मानव जाती का आधार है |

भारतीय संस्कृति की सत्यता

भारतीय संस्कृति को ‘मातृ संस्कृति’ के नाम से भी जाना जाता है | इस भारतीय संस्कृति को संगीत, विज्ञानं की कला सभी क्षेत्रों का पुराने समय से गहरे ज्ञान की जोड़ है |

भारत एक ऐसा देश है जहा सभी लोगो को संस्कृति के महत्वता को और मूल्य को सिखाया जाता है | इस संस्कृति के साथ वो आगे बढ़ते है | आज के युग में भी भारतीय संस्कृति अपने पहले रूप में ही जीवित है |

निष्कर्ष:

भारतीय संस्कृति का मुख्य हेतु मनुष्य का विकास है | भारतीय संस्कृति को एक जीवनधारा के समान माना गया है | जो एक पुरातन काल से स्थिर प्रवाहित है |

आज के युग में भारतीय संस्कृति अपनी विशेषता की वजह से प्रसिद्ध है | भारतीय संस्कृति ने भाषा या कला और देशी – विदेशी संस्कृतियों को समाहित कर लिया है |

Updated: April 1, 2019 — 1:07 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *