नारी का महत्व पर निबंध – पढ़े यहाँ Importance Of Women Essay In Hindi

प्रस्तावना:

हमारे समाज में नारी का महत्व में सबसे ज्यादा हैं | जब इस दुनिया में कोई बच्चा आता हैं, तो उसमे नारी का सबसे बड़ा योगदान रहता हैं | अगर इस दुनिया में नारी नहीं रहेगी तो यह उसका कोई महत्व नहीं रहेगा |

प्राचीन काल में नारियों का विशेष स्थान था | नारियो को पूज्यनीय माना जाता था और उनको देवी के समान माना गया हैं | ऐसा माना जाता हैं की, देव शक्तियाँ वही पर निवास करती हैं, जहाँ पर नारी को सम्मान और प्रतिष्ठा दी जाती हैं |

समाज का भाग

नारी यह हमारे समाज का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं | इस नारी के बिना इस दुनिया में किसी भी चीज संभव नहीं हैं | नारी यह एक अपने परिवार की पूरी जिम्मेदारी संभालती हैं | वो अपने परिवार से लेकर अपने बच्चों की हर एक जिम्मेदारी उठाती हैं |

नारी अपने पुरे परिवार की अच्छे तरह से देखभाल भी करती हैं | हर एक नारी किसी की बहन, पत्नी, माँ, बेटी होती हैं | हर एक नारी अपने रिश्तों और कर्तव्यों को निभाती हैं |

नारी का रूप 

नारी का सबसे पवित्र रूप माँ के रूप में दिखाई देता हैं | माँ यानि जननी या माता | माता को भगवान से भी बढ़कर माना जाता हैं | क्यों की भगवान की जन्मदात्री भी नारी ही हैं |

जैसे की माँ देवकी (कृष्ण), माँ पार्वती (गणपति) | लेकिन इस बदलते समय में लोगों ने अपने माँ को महत्व देना कम कर दिया हैं |

प्राचीन समय की नारी

देश में विदेशी लोगों के आक्रमणों के बाद भारतीय नारी की स्थिति में परिवर्तन होने लगा | वो दिन पे दिन कमजोर होती जा रही थी | उनके ऊपर बहुत सारे अत्याचार किये जाने लगे | नारियों का हनन हिने लगा |

उनको घर से बाहर निकलने नहीं देते थे और नारों को अपना पूरा जीवन गुलामगिरी की तरह जीना पड़ता था | नारी को पुरुषों के समान दर्जा नहीं दिया जाता था | जितने अधिकार पुरुषों को दिए जाते थे उतने अधिकार लड़की को नहीं देते थे | कई लोग लड़की को बोझ समझते थे |

आज की नारी

देश और समाज में की सभी प्रथा दूर करने के लिए बहुत सारे समाज सुधारकों ने अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया हैं | देश को आज़ादी मिलने के बाद नारी के जीवन में बदलाव होने लगे | हर एक नारी को उसके अधिकार दिए जाने लगे |

आज की हर एक क्षेत्र में पुरुषों की तरह काम कर रही हैं | वो अपने जीवन में आज पुरुषों के बराबर कंधे से कंधे मिलाकर चल रही हैं | वो अपने अधिकारों को लिए खुद लढ रही हैं | आज नारी चार दीवारों से बाहर निकलकर हर एक क्षेत्र में अपना योगदान दे रही हैं |

नारियों का सम्मान

आज के युग में बहुत सारी भारतीय नारियों ने अपने नाम के साथ इस देश का भी उज्जवल किया हैं | उन्होंने अपना स्थान समाज और देश में प्राप्त किया हैं | आज हमारे समाज में पुरुषों के साथ – साथ नारियों का भी आदर और सम्मान किया जाता हैं |

निष्कर्ष:

हर एक व्यक्ति को कभी भी नारी को कम नहीं लेखन चाहिए बल्कि उनका सम्मान करना चाहिए | समाज और देश के सभी लोगों को नारी के महत्व को समझना चाहिए | नारी यह हमारे समाज और देश में एक अहम् भूमिका निभाती हैं |

Updated: May 16, 2019 — 8:57 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *