पुस्तकों का महत्त्व पर निबंध हिंदी में – पढ़े यहाँ Importance Of Books Essay In Hindi

प्रस्तावना :

पुस्तकों से हमें बहुत सारा ज्ञान मिलता है | पुस्तकों से हमें अच्छा ज्ञान भी मिलता है और उससे मनोरंजन भी होता है | पुस्तके हर इन्सान के जीवन में बहुत उपयुक्त होती है | पुस्तकों को ज्ञान का भंडार कहा जाता है |

किसी भी इन्सान को किसी विषय के बारे जानना है तो पुस्तकों से उसे ज्ञान मिल सकता है | पुस्तकों से ज्ञान प्राप्त करकर हर इन्सान का सामाजिक और मानसिक विकास होता है | पुस्तके अन्य विचारों को और भावनाओं दूसरों तक पहुचने का बहुत बड़ा कार्य करती है |

पुस्तकों का उपयोग

दुनिया में पुस्तकों का उपयोग बहुत ज्यादा किया है | पुस्तकों से हमें बहुत ज्ञान मिलता है | पुस्तके अंधेरे को दूर करके मनुष्य के जीवन में ज्ञान का प्रकाश डाल देती है | पुस्तके हर इन्सान को एक नया रास्ता दिखाती है |

पुस्तके हमारे लिए बहुत उपयुक्त होती है और हर किसी के जीवन में प्रभाव डालती है | पुस्तको जीवन में बहुत महत्त्व होता है वो हमें संस्कार देकर एक अच्छा व्यक्ति बना देती है |

ग्रंथालय

ग्रंथालय में से हमें अलग अलग तरह की पुस्तके प्राप्त होती है | प्राचीन कालीन सब चीजे धीरे धीरे नष्ट होती जा रही है | कई महान लोगो ने पुस्तकों की निर्मिती की है | उन पुस्तकों में पुरातन कालीन इतिहास के चीजों को किताबो में सुरक्षित किया गया है |

आज के समय में हर एक विषय की किताबे मिलती है | उनसे हम अच्छा ज्ञान प्राप्त कर सकते है और अपने जीवन में सफल हो सकते है |

मनोरंजन का साधन

पुस्तकों के द्वारा हर मनुष्य का मनोरंजन भी होता है | मनुष्य एकांत में बैठ के पुस्तकों पढ़ सकता है और उसका मनोरंजन भी होता है | पुस्तकों के कारण उसको बहुत सारा आनंद भी मिल जाता है | पुस्तकों से बहुत सारे फायदे होते है |

कई पुस्तको में कहानिया भी होती है | वो छोटे बच्चो के लिए बहुत जरुरी होती है | पुस्तकों से हमें नई बातों की जानकारी होती है |

निष्कर्ष :

पुस्तके हमारे जीवन में बहुत सहायक होती है | पुस्तकों को बहती हुई गंगा का विशेष रूप भी दिया गया है | उनको बहती हुई गंगा कहा है जो कभी नही रूकती है | पुस्तके हमें सही रास्ता दिखने का कार्य करती है | पुस्तकों का बहुत महत्त्व है |

Updated: February 28, 2019 — 10:19 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *