किसान पर निबंध – पढ़े यहाँ Hindi Essay On Kisan

परिचय:

देश की अर्थव्यवस्था में किसान का महत्व शब्दों में बया नहीं किया जा सकता. भारतीय किसान एक मेहनती आदमी है. वह सुबह से शाम तक चिलचिलाती गर्मी और ठंड में काम करते रहता है.

देश की पूरी आबादी किसानों पर निर्भर करती है, फिर चाहे यह सबसे छोटा या सबसे बड़ा देश हो. उनकी वजह से ही हम ग्रह पर रह पा रहे हैं. इस प्रकार किसान दुनिया के सबसे महत्वपूर्ण लोग होते हैं.

किसान की दिनचर्या और  जीवन शैली

अधिकांश ग्रामीण किसानों के पास अपने खेत में एक गाय होती है, इसलिए वे दिन की शुरुआत अपनी गायों से दूध निकालने से करते हैं, फिर वे कड़ी धूप में अपने खेत में मेहनत करते हैं. वह सिंचाई, निराई और अन्य कार्य करता है.

किसान सादा जीवन व्यतीत करता है. वह मिट्टी के घर में रहते  है, वे साधारण भोजन खाना पसंद करते है. वह पुराने रिवाजों में विश्वास करता है. उनकी मवेशी , उनके बच्चे और परिवार उनकी सबसे मूल्यवान संपत्ति होती हैं.

विभिन्न किसान

कई किसान होते है, जिनमे पहले आते है वे किसान जो चावल गेहूं उगाते है, इन किसानो को अधिकांश महत्व दिया जाता है क्योंकी भारत में ज्यादातर लोग गेहूं  और चावल का सेवन ज्यादा करते है. फिर आते है वे किसान जो फल और सब्जियो की खेती करते है.

इन किसानों को फलों के लिए मिट्टी को खुद तैयार करना पड़ता है, उसकेलिए किसानों को खेती की पूरी जानकारी होनी चाहिए. सभी किसानों को समान महत्व होता है. ज्यादातर पुराने किसान अनपढ़ थे. लेकिन नई पीढ़ी के किसान ज्यादातर शिक्षित हैं.

उनका शिक्षित होना उनकी बहुत मदद करता है. वे अपने खेतों की मिट्टी को एक प्रयोगशाला में परीक्षण करवाते हैं. इस प्रकार, वे जान सकते हैं कि उनके खेतों में किस तरह की फसल सबसे अच्छी होगी.

किसानों की वर्तमान स्थिति

किसान पूरे देश का भरण पोषण करते हैं लेकिन वे खुद एक दिन में २ भोजन के लिए संघर्ष करते हैं. इसके अलावा, किसान कर्ज और अपराधबोध के बोझ के कारण आत्महत्या कर रहे हैं कि वे अपने परिवारों को भोजन और समृद्ध जीवन प्रदान नहीं कर सकते.

ओर किसानों के पास अपने बच्चों को स्कूल भेजने के लिए पैसे नहीं हैं.कई किसान आय का अधिक स्थिर स्रोत खोजने के लिए शहरों की ओर जा रहे हैं जिससे उनके परिवार को उचित खाद्य आपूर्ति प्रदान कर सके.

किसान का काम

किसान हमेशा मेहनत करने वाले इंसान होते हैं. वह अपने खेतों में सुबह से शाम तक दैनिक रूप से काम करता है. सुबह-सुबह वह अपने बैलों को खेतों में ले जाता है. वह खेतों की जुताई करता है, बीज बोता है और पौधों को पानी देता है.

वह फसलों की देखभाल करता है और उन्हें आवारा पशुओं या जंगली जानवरों द्वारा खराब होने से बचाता है. दोपहर में वह एक छायादार पेड़ के नीचे अपना भोजन लेता है और थोड़ी देर विश्राम करता है. शाम को वह थका हुआ घर लौटता है. किसान बरसात के मौसम का बेसब्री से इंतजार करते हैं.

निष्कर्ष:

इसके अलावा, किसान हमारे खाने के लिए भोजन उगाता हैं. लेकिन फिर भी, वे गरीबी में अपना जीवन जीते हैं. इसके अलावा, जीने के लिए हम केवल खेती पर निर्भर हैं इसलिए हमें अपने किसानों का सम्मान करना होगा जो हमारे लिए खेती करते हैं.

Updated: March 21, 2020 — 10:46 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *