कमल पर निबंध – पढ़े यहाँ Lotus Essay In Hindi

प्रस्तावना:

 कमल का फूल हर किसी के परिचय का हे. ये हमारा राष्ट्रीय फूल हे. जो कीचड़ में उगता हे. और ये भगवान को पसंद हे. कमल फुलोंका राजा हे. यह भारत का और वियतनाम देश का राष्ट्रीय फूल हे.

कमल के प्रकार

कमल एक ही प्रकार का होता हे. लेकिन उसे तीन रंगो में पाया जाता हे. खास कर गुलाबी रंग के कमल हमेशा हम देखते हे. लेकिन सफ़ेद और लाल और नील रंग के भी कमल पाए जाते हे. कमल की खुशबु मधुमखियोंको बोहोत भाती हे. भवरे हमेशा कमल के फूल पर मंडराते रहते हे.

कमल के कई नामो से जाना जाता हे. जैसे कमल, सरसिज, सरोज, जलज, जलजात, नीरज, अंबुज, अंभोज, अब्ज, अरविंद, नलिन, उत्पल, पुंडरीक, तामरस, इंदीवर, वनज इत्यादि.

कमल की प्रजाति

कमल का फूल कई देशो में पाया जाता हे. ज्यादा तर ये अमेरिका, काश्मीर , कुल्लू मनाली यहाँ कमल की प्रजाति ज्यादा हे. इसे कई अलग अलग नमो से भी जाना जाता हे. भारत में कमल, वॉटर लिली ऐसे कई नाम हे.

इसमें एक और जाती हे ब्रम्हकमल जो पांच साल में एक बार आता हे.

कमल का फूल कैसे होता हे

कमल लाल, गुलाबी, नील रंग में देखने मिलते हे. इनके पत्ते बड़े ढाल की तरह होते हे जिसमे में एक डंठल निकला हुआ रहता जिसमे से कमल का बीज एक फूल के रूप में जन्म लेता हे.

इसकी डंठल बोहोत गुणकारी होती हे, पहले के ज़माने में इस डंठल से सूती कपडे बनाये जाते थे. जिसे पहनकर कोई बीमारी नहीं हो सकती. अगर हुई तो इस डंठल में से निकलने वाले रेशो के कपडे हमारे शरीर को रहत देते हे. कमल का फूल प्रातः ह कल में उगता हे. सूरज की हलकी किरणे उसपर अपना प्यार बरसता हे

पौराणिक महत्त्व

 कमल ये फूल भगवान विष्णु को प्रिय हे. क्यूंकि उनके नाभि से ब्रम्हाजी का जन्म हुआ और वो कमल में भी बैठे हुए हे. माँ सरस्वती भी कमल पर विराजमान हे. गीता में कहा गया हे, इंसान को कमल की तरह होना चाइये.

ये कीचड़ में उगता हे. फिर भी कितना सुन्दर हे. की भवरा भी उसके ऊपर मंडराता रहता हे. और पानी होकर भी कीचड़ में रहकर भी वो अपने ऊपर एक पानी की बून्द या कीचड़ नहीं उड़ने देता.

इंसान को भी ऐसे ही रहना चाहिए. इंसान बुरा नहीं होता, उसके हालत बुरे होते हे मगर उनसे भी बहार निकल कर अच्छा इंसान बनाना एक कमल के तरह रहना होता हे.

महालक्ष्मी, सरस्वती, ब्रह्मा इन देवो का आसान भी कमल ही हे.

कमल की पत्तिया और डंठल

 इनकी पत्तिया बोहोत बड़ी गोल आकर में एक ढाल की तरह होती हे. इससे पहले मंदिरो में दिया बनाने के काम आते थे. और इन डंठल से निकलने वाले रेशे उस दिया के वाती बनाने के काम आते थे.

कमल का बीज

कमल का बीज बेर के आकर का होता हे. जिसको पिंस कर आटा बनाया जाता हे. ये एक गुणकारी दवा की तरह काम करता हे.

निष्कर्ष:

हमारा राष्ट्रीय फूल हमारे देश की पहचान. कमल का फूल हमें भी अपने स्वाभाव को कमल जैसा बनाना चाहिए

Updated: March 16, 2020 — 11:30 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *