मुर्गी पर निबंध – पढ़े यहाँ Hen Essay In Hindi

प्रस्तावना:

मुर्गी यह भारत देश में पाया जाने वाला एक पालतू पक्षी हैं | मुर्गी को कई लोग पालन व्यावसायिक के दृष्टी से पाला जाता हैं | यह ज्यादा तो घरों में पाया जाने वाला पक्षी हैं |

मुर्गी अन्य पक्षियों में बड़ी होती हैं | मुर्गी ज्यादा तो गाँवों में पाली जाती हैं | ग्रामीण भागों में मुर्गा – मुर्गी यह दोनों पाए जाते हैं | नर को मुर्गा और मादा को मुर्गी कहा जाता हैं |

मुर्गी की शरीर रचना

मुर्गी लाल, सफ़ेद और भूरे रंगों में पायी जाती हैं | मुर्गी की दो पैर,आँख और एक चोंच होती हैं | मुर्गी के सर पर छोटी सी कलगी होती है, जो लाल रंग में की होती हैं |

मुर्गी को पंख होते हैं जिसके कारण वो कम ऊंचाई पर कुछ समय के लिए उड पाती हैं | मुर्गी को अपने पैरों पर चलना पसंद हैं |

मुर्गी पालन व्यवसाय

गावों में कई लोग मुर्गी को पालते हैं | मुर्गी हर दिन एक अंडा देती हैं | यह अंडा सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता हैं |

मुर्गी के अंडे में सबसे ज्यादा प्रोटीन पाया जाता हैं | मुर्गी अंडा देने के लिए एक जगह चुनती हैं और उसी जगह पर हर दिन अंडा देती हैं |

मुर्गी साल भर में कम से कम ३०० अंडे देती हैं | मुर्गी अंडो पर बैठकर अपने शरीर की ऊर्जा से पिल्लों को जन्म देती हैं | मुर्गी पालन यह एक सबसे अच्छा व्यवसाय हैं |

मुर्गी का भोजन

मुर्गी ज्यादा तो कीड़े मकोड़े, अनाज और बीज खाती हैं | मुर्गी सब्जिया भी खाती हैं | मुर्गी देखने में बहुत प्यारी लगती हैं और ग्रामीण भागों में सुबह सुबह इनकी आवाज सुनने के लिए मिलती हैं |

मुर्गा और मुर्गी अपनी आवाज (बांग) से सभी को जगा देते हैं | इस मुर्गी का जीवन काल ५ से ८ साल तक होता हैं | मुर्गी हल्की आवाज होने से डर जाती हैं |

कुश्ती

कई सारे देशों में प्राचीन काल में दो मुर्गे के बिच में कुश्ती या लड़ाई देखने के लिए मिलती थी | इस कुश्ती को देखकर बहुत सारे लोग खुश हो जाते थे |

पुराने समय में भी थी और आज भी कई जगहों पर मुर्गों की कुश्ती देखने के लिए मिलती हैं |

निष्कर्ष:

मुर्गी का संबंध पक्षी जाती से हैं | मुर्गी यह दिखने वाला सुन्दर और बड़ा पक्षी हैं | यह ज्यादा तो गावों में पाया जाने वाला पक्षी हैं |

Updated: April 1, 2019 — 10:19 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *