गुरु पूर्णिमा पर निबंध हिंदी में – पढ़े यहाँ Guru Purnima Essay In Hindi

प्रस्तावना :

गुरु पूर्णिमा यह हिन्दू धर्म का एक प्रमुख त्योहार है | इस त्योहार को हिन्दू, जैन और बौद्ध धर्म के लोग मानते है | इसे सभी लोग बड़े उत्साह से मनाते है | गुरु वही होता है जो अपने सभी शिष्यों को अच्छे से ज्ञान देता है और उनको अच्छे रस्ते पर चलने की सलाह देता है |

गुरु यानि एक शिक्षक के रूप में उसको माना जाता है | यह त्योहार सभी भक्तों के द्वारा मनाया जाता है | सभी भक्त अपने गुरु की पूजा करते है |

गुरु पूर्णिमा का त्योहार

हिन्दू कैलेंडर के अनुसार गुरु पूर्णिमा यह त्योहार आषाढ़ के शुकल पक्ष की पूर्णिमा को मनाया जाता है | इस त्योहार को व्यास पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है | व्यास मुनिनी इस दिन महाभारत की रचना की थी और प्राचीन संत ने १८ पुराण, श्रीमद भागवत को लिखा था |

सभी लोग इस त्योहार को शुभ दिवस मानते है | इस त्योहार शुभ दिवस मानते है क्यों की हर किसी के जीवन में गुरु की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण होती है |

गुरु शब्द का अर्थ 

गुरु शब्द का अर्थ है – ‘गु’ का अर्थ है (अंधकार) और ‘रु’ का अर्थ होता है प्रकाश (ज्ञान) | गुरु हम सभी को अंधकारी अज्ञान की तरफ से प्रकाश की ओर लेकर जाता है | सभी के भावी पीढ़ी का निर्माता गुरु होता है | गुरु को अपना सब कुछ मानते है |

गुरु पूर्णिमा का महत्त्व

गुरु पूर्णिमा के दिन सभी गुरु का आदर और सत्कार किया जाता है | इस दिन आश्रमों पूजा – पाठ की जाती है | कई जगह पे जिस गुरु (शिक्षक) ने अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है उस दिन उनका सम्मान किया जाता है |

बहुत सारे जगह पे कीर्तन और भंडारा भी आयोजित किया जाता है | हर किसी के जीवन में गुरु का बहुत महत्त्व होता है | इस दिन दान करने का पुण्य यह शुभ कार्य भी किया जाता है | सीख धर्म में भी गुरु का बहुत बड़ा महत्त्व है |

जीवन में महत्वता

गुरु पूर्णिमा यह त्योहार पुरे देश में मनाया जाता है | गुरु पूर्णिमा के दिन सभी भक्त और गुरु तीर्थ स्थल के नदियों पर स्नान करने जाते है | इस दिन किसी को शिक्षा प्राप्त करनी है तो यह दिन शिक्षा प्राप्त करने के लिए बहुत अच्छा रहता है |

इस किसी के जीवन में कोई ना कोई गुरु होता है जो अपने शिष्यों को अच्छा ज्ञान और मार्गदर्शन देता है | गुरु का दर्जा बहुत बड़ा है | इनको भगवान से ही ज्यादा माना जाता है |

निष्कर्ष :

गुरु सभी के जीवन में बहुत अच्छी भूमिका निभाते है | गुरु पूर्णिमा के दिन सभी को उनका आदर और सम्मान करना चाहिए | इस दिन इनकी पूजा भी की जाती है |

यह त्योहार बड़े धूमधाम से मनाया जाता है | यह एक बहुत बड़ा ख़ुशी का त्योहार माना जाता है | हर सभी शिष्य को एक आदर्श इन्सान बनकर दिखाना चाहिए |

Updated: March 6, 2019 — 4:14 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *