गुरु पूर्णिमा पर निबंध कक्षा 5 के लिए – पढ़े यहाँ Guru Purnima Essay In Hindi For Class 5

प्रस्तावना:

अन्य त्योहारों में से गुरु पूर्णिमा यह एक प्रसिद्ध त्यौहार हैं | यह भारतियों का प्रमुख त्यौहार हैं | यह त्यौहार हिन्दू धर्म और बौद्ध धर्म के लोग पुरे उत्साह से मनाते हैं |

इस दिन गुरुओं और शिक्षकों की पूजा और सम्मान किया जाता हैं | यह त्यौहार पुरे देश में बड़े ख़ुशी के साथ मनाया जाता हैं |

गुरु शब्द का अर्थ –

गुरु यह शब्द दो शब्दों से बना हुआ हैं – गु + रु | गु का अर्थ होता हैं – अंधकार और रु का अर्थ होता हैं – प्रकाश |

गुरु का अर्थ होता हैं – गुरु हमें अज्ञान रूपी अंधकार से ज्ञानी रूपी प्रकाश की तरफ ले जाता हैं | हमारा भावी जीवन गुरु के द्वारा ही निर्माण होता हैं |

गुरु पुर्णिमा कब मनाया जाता हैं 

गुरु पूर्णिमा यह त्यौहार हिन्दू कैलेंडर के अनुसार आषाढ़ माह की पूर्णिमा को मनाया जाता हैं | इस दिन सभी गुरुओं का सम्मान किया जाता हैं |

गुरु पूर्णिमा इस त्यौहार को व्यास पूर्णिमा’ के नाम से भी जाना जाता हैं | गुरु पूर्णिमा के दिन भगवान वेद व्यास ने महाभारत की रचना की थी | इसलिए यह त्यौहार बड़े धूमधाम से मनाया जाता हैं |

गुरु का महत्व

हमारे जीवन में गुरु का सबसे ज्यादा महत्व होता हैं | गुरु के बिना किसी का भी जीवन सफल नहीं हो सकता हैं | इस दिन मान्यता के अनुसार गुरु पूर्णिमा के दिवस गुरु का पूजन करने से दीक्षा के रूप में पूरा फल उनके सभी शिष्यों को मिलता हैं | गुरु का महत्व सिर्फ शिक्षा क्षेत्र में ही नहीं होता हैं बल्कि पुरे व्यापक जीवन में होता हैं | गुरु पूर्णिमा का सिख धर्म में भी विशेष महत्व हैं |

गुरु पूर्णिमा के दिन विशेष आयोजन

गुरु पूर्णिमा के दिन आश्रमों में पूजा – पाठ किया जाता हैं | इस दिन अलग – अलग क्षेत्रों में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले गुरुओं या शिक्षकों को सन्मानित किया जाता हैं |

इस दिन साहित्य, संगीत, नाटक, चित्रकला अन्य प्रकार के प्रतियोगिताओं का प्रदर्शन किया जाता हैं | कई जगहों पर कीर्तन और भंडारा का आयोजन किया जाता हैं | इस दिन दान – पुण्य करने की परंपरा हैं |

स्कूल में गुरु पूर्णिमा का त्यौहार

गुरु पूर्णिमा के स्कूल और कॉलेज में सभी शिक्षकों को सन्मानित किया जाता हैं | उनके सन्मान के लिए लोग भाषण और अन्य प्रकार की प्रतियोगिता आयोजित करते हैं |

स्कूल और कॉलेज के छात्र अपने शिक्षकों कों उपहार भेट करते हैं और उनका आशीर्वाद लेते हैं | स्कूल में गुरु पूर्णिमा यह त्यौहार बड़े धूमधाम से मनाते हैं |

निष्कर्ष:

गुरु का अर्थ बहुत ही व्यापक और बड़ा हैं | गुरु अपने हर एक शिष्य को जीवन का सही मार्ग दिखाते हैं | वो सभी के जीवन पर अंधकारी रूप से ज्ञान का प्रकाश डालते हैं | इसलिए हम सभी को अपने गुरु का सम्मान और प्रणाम करना चाहिए |

उनके द्वारा मिला हुआ ज्ञान का मूल्य हम कभी नहीं चूका सकते हैं | इसलिए गुरु जीवन में सबसे बड़ा और महत्वपूर्ण होता हैं |

Updated: April 11, 2019 — 2:44 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *