दादा – दादी पर निबंध – पढ़े यहाँ Grandparents Essay In Hindi

प्रस्तावना:

हमारे जीवन में कुछ लोग ऐसे होते हैं जिनसे हम प्रभावित होते हैं | वो हमें बहुत प्यार करते हैं | उनके सामने जाते ही उनके चेहरे पर मुस्कराहट आ जाती हैं | दादा – दादी यह घर के सबसे बड़े सदस्य होते हैं |

घर के सभी लोग इनका आदर करते हैं | दादा – दादी के साथ रहना बहुत अच्छा लगता हैं | वो सिर्फ ज्ञान नहीं देते हैं बल्कि प्यार और देखभाल भी करते हैं | उसके साथ – साथ हमारे जीवन में खुशियाँ भर देते हैं |

दादा – दादी और पोता –पोती के बीच का संबंध

दादा – दादी और पोता – पोती इनके बीच के रिश्ते का वर्णन नहीं किया जा सकता हैं | कई बच्चों में अपने दादा – दादी से मिलते जुलते कई गुण पाए जाते हैं | दादा – दादी अपने पोता और पोती से बहुत प्यार करते हैं |

उनके साथ एक दोस्त की तरह से रहते हैं | दादा – दादी यह दोनों बच्चों का पालन – पोषण करते हैं और उन्हें अच्छे संस्कार भी देते हैं | कई बच्चों के माता – पिता व्यस्त होने के कारण उनके बच्चों का ख्याल दादा – दादी रखते हैं | वो अपना पूरा समय उनके के लिए देते हैं |

भगवान का दिया हुआ आशीर्वाद

दादा – दादी यह यह भगवान के द्वारा दिया हुआ एक सबसे बड़ा आशीर्वाद हैं | जो यह घर सँभालने के लिए बहुत जरुरी होते हैं | जिस घर में दादा- दादी यह दोनों नहीं होते हैं उनका घर अधुरा रह जाता हैं |

उस घर के बच्चे बहुत ज्यादा गलती करते हैं | क्योंकि उन बच्चों को सही संस्कार और अच्छी राह दिखने वाला कोई नहीं होता हैं |

जीवन में महत्व 

आज में युग में बहुत सारे लोग छोटे परिवार में रहते हैं | जिसकी वजह से बच्चों को दादा – दादी के प्यार से वंचित रहना पड़ता हैं | माता – पिता यह दोनों अपने जीवन में व्यस्त होने के कारण बच्चों का ख्याल सिर्फ दादा- दादी रख सकते हैं | और उनके के लिए काम भी करते हैं |

अगर लोग पैसे कमाने के चक्कर में अपने रिश्तों को भूल बैठे तो दादा – दादी यह हमारे जीवन के विशेष संपदा होती हैं | यह दोनों प्यार और विश्वास का जोड़ हैं | इनके रिश्ते की वजह से हमें धनवान कहलाते हैं | अगर व्यक्ति इस रिश्तों को भूल बैठा तो पैसे ज्यादा होने के बावजूद भी वो एक गरीब ही रह जायेगा |

निष्कर्ष:

हर एक बच्चे को अपने दादा – दादी के साथ ज्यादा से ज्यादा समय व्यतीत करना चाहिए | क्यों की उनके साथ रहकर मनुष्य को अच्छी सीख मिल जाती हैं | सभी बच्चों को अपने दादी – दादी की सेवा करनी चाहिए और उनका आदर करना चहिये | बच्चों को उनकी हर एक बात को मानना चाहिए | दादा – दादी की जगह इस दुनिया में कोई नहीं ले सकता हैं |

Updated: May 13, 2019 — 9:41 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *