ग्लोबल वार्मिंग पर निबंध – पढ़े यहाँ Global Warming Essay In Hindi Download

प्रस्तावना:

आज की दुनिया में मनुष्य ने अपनी सुख – सुविधाओं के लिए नई – नई तकनीकों का विकास करता रहा हैं | अपने स्वार्थ के लिए मनुष्य प्रकृति के साथ खिलवाड कर रहा हैं |

जिसकी वजह से पर्यावरण का संतुलन बिगड़ जा रहा हैं और उसे बनाए रखने के लिए बहुत मुश्किल हो रह हैं  |

इन सभी कारणों की वजह से उसे अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा हैं | उन सभी समस्याओं में से ग्लोबल वार्मिंग यह एक बहुत बड़ी समस्या हैं |

ग्लोबल वार्मिंग का अर्थ

ग्लोबल वार्मिंग का अर्थ होता हैं – लगातार तापमान में बढ़ोतरी होना | जब कोई परिवर्तन प्रकृति के नियमों के अनुसार नहीं होता हैं, उसे ‘ग्लोबल वार्मिंग’ कहा जाता हैं | प्रकृति में बहुत सारे बदलाव मानव निर्मित होते हैं |

इस प्रक्रिया की वजह से पर्यावरण और धरती का तापमान से सबसे अधिक गर्म हो जाता हैं | तापमान बढ़ने के करण अंटार्टिका और हिमालय पर्वतों का बर्फ पिघलता जा रहा हैं | जिसके कारण समुंद्र का बढ़ते जा रहा हैं |

ग्लोबल वार्मिंग का कारण

ग्लोबल वार्मिंग की समस्या निर्माण होने के लिए बहुत सारे कारण कारणीभुत होते हैं | इसका मुख्य कारण होता हैं – ग्रीनहाउस |

ग्रीनहाउस

ग्रीनहाउस यह आक्सीजन, हाईड्रोजन, नाईट्रोजन, मीथेन, हीलियम, नियान, कार्बन-डाई-आक्साइड जैसे अन्य गैसों से तैयार होता हैं | इन सभी गैसों से जो आवरण बनाता हैं उसे ‘ग्रीनहाउस’ कहते हैं |

ग्रीनहाउस इस धरती पर एक सुरक्षा परत की तरह काम करता हैं | जब यह असंतुलित हो जाता हैं तो ग्रीनहाउस जैसी गंभीर समस्या निर्माण हो जाती हैं |

जनसँख्या वृद्धि

जिस तरह से देश में जनसंख्या में वृद्धि हो रही हैं, उसी तरह हर दिन ग्लोबल वार्मिंग की समस्या बढ़तीं जा रही हैं |

मनुष्य के द्वारा अन्य उद्योगों और वाहनों में से निकलने वाले धुएं के कारण प्रदुषण का “प्रमाण” भी बढ़ता जा रहा हैं |

प्रदुषण की समस्या

अन्य प्रकार के प्रदूषण के बढ़ने के कारण निरंतर ग्लोबल वार्मिंग की समस्या बढती जा रही हैं | वातावरण में कार्बन डायऑक्साइड का प्रमाण बढ़ने से ओझोन की परत को बहुत नुकसान पहुँच रहा हैं |

जंगलों की कटाई, बढ़ती जनसंख्या और कारखानों और वाहनों से निकलने वाले धुएं के कारण ग्लोबल वार्मिंग की समस्या बढ़ रही हैं |

ग्लोबल वार्मिंग के परिणाम

ग्लोबल वार्मिंग बढ़ने के कारण बर्फीले स्थान पिघलने लगे हैं | आज गर्मी सबसे अधिक बढ़ रही हैं और ठण्ड कम होती जा रही हैं |

ग्लोबल वार्मिंग बढ़ने की वजह से मनुष्य को प्राकृतिक आपदाओं का सामना करना पड़ रहा हैं | जंगलों में आग लगने के कारण बाढ़ का खतरा बढ़ रहा हैं | ग्लोबल वार्मिंग बढ़ने की वजह से सभी पशु – पक्षियों की प्रजाति नष्ट होती जा रही हैं |

निष्कर्ष:

सभी लोगों को ग्लोबल वार्मिंग की समस्या को कम करने के लिए प्रयास करना चाहिए | सभी मनुष्य जाती को ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने चाहिए | सभी लोगों को मिलकर ग्लोबल वार्मिंग जैसी समस्या से इस पृथ्वी को बचाना बहुत जरुरी हैं |

Updated: May 22, 2019 — 8:14 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *