दोस्ती पर निबंध कक्षा ४ के लिए – पढ़े यहाँ Friendship Essay In Hindi For Class 4

प्रस्तावना:

दोस्ती यह जीवन का सबसे सुंदर रिश्ता होता हैं | जीवन में दोस्ती का बहुत महत्व होता हैं | यह एक ऐसा रिश्ता होता हैं, जो मनुष्य खुद बनाता हैं | दोस्ती यह जीवन का सबसे बहुमूल्य उपहार हैं |

हर किसी के जीवन में सच्चा दोस्त होना बहुत जरुरी होता हैं | दोस्ती वही होती हैं, जो ह्रदयों को जोड़ने का कार्य करती हैं | एक अच्छा दोस्त निस्वार्थ होता हैं | वो हमेशा अपने दोस्त को जरुरत पड़ने पर सहायता करता हैं |

दोस्ती का अर्थ –

दोस्ती का अर्थ होता है, मित्र या दोस्त होता | दोस्ती का अर्थ यह होता हैं की, एक – दुसरे के हित की कामना करे और एक – दुसरे के सुख – दुःख में हमेशा तत्पर रहे |

दोस्ती यह सिर्फ सुख के क्षणों की कामना नहीं करती बल्कि दुःख के समय में भी दोस्ती ढाल बनकर आती हैं | दोस्ती अपने दोस्त की रक्षा के लिए सदा तत्पर होती हैं | दोस्ती के लिए कोई नियम नहीं होता हैं |

दोस्ती का महत्व

दोस्ती का सबसे ज्यादा महत्व होता हैं | यदि एक – दुसरे में खून का श्ता ना हो या जाती का संबंध ना हो, सजीवता का संबंध लेकिन उसके साथ भावनात्मक दृष्टी से जुदा होता हैं, इए दोस्ती कहते हैं |

कई लोग भगवान से भी दोस्ती करते हैं | भगवान को अपना दोस्त मनाते हैं | वो अपने दिल की बात भगवान से कहते हैं | भगवान से सभी बाते कहकर अपना मन हल्का करते हैं |

मनुष्य यह एक ऐसा प्राणी हैं जो, अकेला नहीं रह सकता हैं | उसे अपने दिल की बात कहने के लिए कोई ना कोई तो चाहिए |

स्वार्थ की भावना

सच्ची दोस्ती में कोई स्वार्थ की भावना नहीं होती हैं | सच्ची दोस्ती यह एक अनमोल धन होता हैं | जिसकी तुलना हम अन्य किसी चीजों से नहीं कर सकते हैं | सच्चा मित्र वही होता हैं जो, हर सुख – दुःख में दोस्त के साथ ढाल बनकर खड़ा रहता हैं |

वो कभी भी साथ नहीं छोड़ता हैं और हमेशा सही मार्गदर्शन करता हैं | क्रिश्चन धर्म के (बायबल) ग्रंथ में ऐसा लिखा हैं की, एक सच्चा मित्र दुनिया की सर्वश्रेष्ठ दवा होती हैं |

विश्वास की भावना

एक अच्छा और सच्चा दोस्त बनाने के लिए मनुष्य के अंदर बहुत सारी अच्छी बाते और विशेषता होनी चाहिए | एक – दुसरे को विश्वास रखना चाहिए |

विश्वास रखना यह दोस्ती के लिए सबसे जरुरी होता हैं | विश्वास की भावना वही होती हैं जो, जिसके द्वारा दोस्ती बहुत ज्यादा बढ़ जाती हैं यानि गहरी होती हैं |

निष्कर्ष:

दोस्ती का रिश्ता अन्य रिश्तों से नहीं जुडा जा सकता हैं | एक सच्ची दोस्ती भगवान के द्वारा दिया हुआ एक उपहार हैं |

कभी भी इन्सान को अपने जीवन में दोस्ती का दुरुपयोग नहीं करना चाहिए | एक सच्चा दोस्त हमेशा अपने दोस्त का हित या भला चाहनेवाला होता हैं |

Updated: May 17, 2019 — 9:17 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *