वन महोत्सव पर निबंध – पढ़े यहाँ Forest Festival Essay In Hindi

प्रस्तावना :

मानव के जीवन में वनों का बहुत महत्त्व है | पशु पक्षियों से लेकर मानव तक सबके लिए वन बहुत उपयोगी है | वन किसी से कुछ मांगते नही है वो मानव को देने का कार्य करती है |

पेड़ हमें धुप में छाया और फल – फुल देते है | पेड़ मानव के बहुत उपयोगी होते है | वन की प्राकृतिक सुन्दरता और आकर्षण सबसे अच्छी दिखती है |

वन महोत्सव दिवस

अपने भारत देश में वन महोत्सव दिवस मनाया जाता है | अपने भारत देश में वन महोत्सव सन १९५० को केन्द्रीय मंत्री कुलपति डॉ. केएम मुंशी द्वारा शुरू किया था | यह दिन इसलिए मनाया जाता है की १९५० में बहुत सारे पेड़ों की कटाई की जा रही थी |

उसको रोकने के इसकी शुरुवात की थी | उसके बाद इंदिरा गाँधी के बेटे ने संजय गाँधी इन्होने वृक्षारोपण लगाने का कार्यक्रम शुरू किया था | इसमें लोगो को प्रेरित किया गया था की ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने चाहिये |

वनों की आवश्यकता

वृक्ष से हमें बहुत चीजे प्राप्त होती है | वृक्ष हमें फल और फुल देता है | वृक्ष हर मनुष्य को शुद्ध हवा देता है और हमारे द्वारा दिए गए कार्बन डाइऑक्साइड गैस को शोषित करते है और हमें ऑक्सीजन देते है |

हम सभी को वातावरण का संतुलन को बनाके रखना चाहिए| इसलिए सबको वृक्ष लगाना जरुरी है | वृक्ष ही इस धरती पर धूप होने से बचाते है | वृक्ष की हमें रक्षा करनी चाहिए |

वनों के फायदे

इस वनों के कारण हमारी पृथ्वी के वातावरण में समानता रहती है | वनों से हमें चन्दन की लकडिया भी मिलती है | जो बहुत ही कीमती रहती है | वृक्ष से हमें ऑक्सीजन मिलता है | जो सबके लिए बहुत आवश्यक होता है |

और होनेवाले बीमारियों को  दूर करने के लिए आयुर्वेदिक जड़ी बूटिया इस वनों से मिलती है | बहुत सारे वृक्ष होने के कारण वर्षा अच्छे से होती है और सभी जगह पे हरियाली दिखाई देती है |

इस वनों से मानुष को बहुत सारे फायदे होते है लेकिन मनुष्य अपने स्वार्थ के लिए वनों की कटाई करता है |

वनों की कटाई के दुष्परिणाम

वनों की कटाई का प्रभाव पुरे पृथ्वी पर पड जाता है | वनों के कटाई के कारण पृथ्वी के तापमान में उन्नति होती रहती है | उद्योग धंधो से निकलने वाली जहरीली और अन्य पदार्थो से निकलने वाली जहरीली गैसों की वजह वृक्ष इसका शोषण करते थे |

लेकिन वनों की कटाई के कारण ऐसे पदार्थो से बीमारी उत्पन्य होने लगी है | वृक्षों की कटाई के कारण हमें बाढ़, प्रदुषण इत्यादि यह सब से मनुष्यों को सामना करना पड़ता है | इसलिए भारत सरकार ने वृक्षों की रक्षा करने के लिए नियम लागु किये है |

निष्कर्ष :

हर एक मनुष्य को वृक्षों का महत्व समझना चाहिए | हम सभी को ज्यादा से ज्यादा वृक्षों को लगाना चाहिए | हमें वन महोत्सव के दिन लाखों पेड़ और पौधे लगाकर सभी लोगो के मन में इनके लिए जागरूकता निर्माण करनी चाहिए |

Updated: March 9, 2019 — 11:16 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *