मेरा भारत महान पर निबंध – पढ़े यहाँ Essay On Mera Bharat Mahan In Hindi

प्रस्तावना:

मेरा भारत देश एक महान देश हैं | मेरा भारत देश यह अपनी संस्कृति और विविधता के लिए जाना जाता हैं | मेरा देश केवल नाम का ही महान नहीं हैं बल्कि इस देश के मिट्टी की महानता सबसे अलग हैं |

इस देश में रहने वाला हर एक इंसान इस भारतभूमि को मिट्टी नहीं मानता हैं बल्कि उसे अपनी माँ समझता हैं | मेरे भारत देश को अन्य नामों से जाना जाता हैं |

भारत देश के विविध नाम

मेरे भारत देश को सभी लोग अन्य नामों से जानते हैं | कोई इसे हिन्दुस्थान कहता था, तो कोई आर्यव्रत, तो कोई इंडिया कहता हैं | मेरे भारत देश को सबसे प्राचीन समय में आर्यव्रत नाम से जाना जाता था |

उसके बाद महाराणा राजा दुष्यंत के पुत्र भारत के नाम पर इस देश को भारत यह नाम पड़ा | मेरे देश की महानता यह उसके इतिहास और पारंपरिक रीती – रिवाजों की वजह से हैं |

कृषिप्रधान देश

मेरा भारत देश यह एक कृषिप्रधान देश हैं | इस देश के कई लोग खेती पर निर्भर रहते हैं | मेरे देश में मक्का, गेहूं, गन्ना, चावल और बाजरा की फसलो के ली जाती हैं | कई लोग कृषि पर ही अपनी आजीविका चलाते हैं |

देश में हरित क्रांति के बाद और इस देश में सबसे ज्यादा अनाजों की पैदावार होने लगी इसलिए इस देश को कृषिप्रधान देश होने के साथ अन्य देशों में भी अग्रेसर हैं |

अनेकता में एकता

मेरे देश की संस्कृति और सभ्यता यह सबसे पुरानी हैं | मेरे भारत देश की संस्कृति और शिल्प कला, नृत्य और संगीत यह अन्य देशों से अलग हैं | मेरे देश की संस्कृति सभी लोगों को मनमोहित करती हैं |

मेरे भारत देश में सभी लोगों में अनेकता में एकता की भावना दिखाई देती हैं | इस देश में रहने वाले हर एक धर्म के लोग भारत के सभी त्योहारों को उत्साह और मिलजुलकर मनाते हैं |

भारत की नदियाँ

मेरे भारत हिमालय से निकलने वाली पवित्र नदियाँ मेरे भारत देश से बहती हैं | मेरे भारत देश में गंगा, यमुना, सतलज, गोदावरी जैसी पवित्र नदियों को पूज्यनीय माना गया हैं | मेरे भारत देश में कश्मीर, नैनीताल, शिमला, कुल्लू मनाली इ प्राकृतिक सुंदरता के स्वर्ग हैं |

महानपुरुषों की भूमि

मेरे भारतभूमि पर बहुत सारे महान पुरुषों ने जन्म लिया हैं | जिन्होंने इस देश के स्वतंत्रता के लिए अपने प्राणों का बलिदान दिया हैं | मेरा भारत देश एक महान नेता और स्वतंत्रता सेनानियों का देश माना जाता हैं |

राष्ट्रीय प्रतीक

मेरे भारत देश की राष्ट्रीय भाषा हिंदी, वन्दे मातरम यह राष्ट्रीय गीत, जन-गन-मन यह राष्ट्रगान हैं | मेरे भारत देश का राष्ट्रीय पशु – बाघ, राष्ट्रीय पक्षी मोर और राष्ट्रीय चिन्ह तुला हैं |

निष्कर्ष:

वास्तव में जिस देश की मिट्टी को अपनी माँ कहलाने वाले लोग होते हैं, वो देश और वो मातृभूमि सच में महान होती हैं | बहुत सालों तक संघर्ष करने के बाद मेरे भारत देश को आज़ादी मिल गयी हैं |

फिर भी इस देश ने कभी हार नहीं मानी और आज भी इस देश को सोने की चिड़ियाँ कहा जाता था | इसलिए मेरा देश देश महान था, महान हैं और महान रहेगा |

Updated: June 18, 2019 — 9:57 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *