लखनऊ शहर पर निबंध – पढ़े यहाँ Essay on Lucknow In Hindi

प्रस्तावना :

“लखनऊ” शहर हमारे भारत देश के सबसे अधिक आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश की राजधानी है | लखनऊ शहर में लखनऊ जिले और लखनऊ मंडल के प्रशासनिक मुख्यालय भी स्थित हैं |

यह शहर गोमती नदी के तट पर  स्थित है | लखनऊ भौगोलिक दृष्टि से विशाल गांगेय ह्रदय क्षेत्र में स्थित यह शहर बहुत से ग्रामीण कस्बों एवं गाँवों से घिरा हुआ है |

लखनऊ शहर को नवाबों की नगरी के नाम से भी जाना जाता है | इसे पूर्व की स्वर्ण नगर (गोल्डन सिटी) और शिराज-ए-हिंद के रूप में जाना जाता है |

लखनऊ शहर को अदब और तहजीब के लिए पुरे विश्व में जाना जाता है | यही नहीं बल्कि लखनऊ अपने स्वाद के लिए भी खासतौर पर जाना जाता है | वेज और नॉनवेज दोनों व्यंजनों के लिए लखनऊ को देश के सबसे बेहत्तरीन जगहों में से एक माना जाता है |

प्राचीन शहर लखनऊ

लखनऊ प्राचीन कोसल राज्य का हिस्सा था | यह शहर भगवान राम की विरासत थी जिसे उन्होंने अपने भाई लक्ष्मण को समर्पित कर दिया था |

लखनऊ को प्राचीन काल में लक्ष्मणपुर और लखनपुर के नाम से जाना जाता था | यह नाम बाद में बदलकर लखनऊ हो गया | यहाँ से अयोध्या भी केवल ८० मील दुरी पर स्थित है |

नवाबों का शहर

इसके वर्तमान स्वरुप की स्थापना नवाब आसफ-उद-दौला द्वारा सन १७७५ में किया गया था | उन्होंने नवाबों  राजधानी के रुप में पेश किया था | लखनऊ शहर एक विनम्र संस्कृति के अलावा शानदार पाक शैली के लिए वर्तमान समय में विश्व विख्यात है |

लखनऊ की मिठाइयां सभी को लुभाती हैं | यहाँ की मिठाइयों में रामआसरे, छप्पन भोग, राधेलाल परंपरा और मधुरिमा बहुत ही महत्वपूर्ण मिठाइयां हैं |

लखनऊ शहर अपनी खास नज़ाकत और तहजीब वाली बहुसांस्कृतिक खूबी, दशहरी आम के बाग और चिकन की कढ़ाई के काम के लिये जाना जाता है |

पर्यटन स्थल 

लखनऊ शहर के सबसे महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल बड़ा इमामबाड़ा, शहीद स्मारक, रेजीडेंसी और लखनऊ के बड़े इमामबाड़े को भूल-भुलैय्या के नाम से भी जाना जाता है |

क्योंकि इसकी बनावट ही ऐसी है जिसमें यदि कोई बिछड़ जाता है तो उसे आसानी से खोजने में बहुत मुश्किल होता है | इसका निर्माण नवाब आसफ उद्दौला ने करवाया था | इसलिए यहाँ के लोग इसे आसफ इमामबाड़ा के नाम से बुलाते हैं |

लखनऊ की अधिकांश जनसँख्या पूर्वार्ध उत्तर प्रदेश से है | यहाँ की पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लोगों के अलावा बंगाली दक्षिण भारतीय एवं आंग्ल-भारतीय लोग भी बसे हुए हैं।

यहां की कुल जनसंख्या का ७७% हिन्दू एवं २०% मुस्लिम लोग हैं | लखनऊ शहर भारत के सबसे साक्षर शहरों में से एक है | यहाँ की साक्षरता दर ८२.५% है, महिलाओं की साक्षरता  ७८% और पुरुषों की साक्षरता ८९% हैं |

निष्कर्ष:

लखनऊ में चौक का बाजार प्रमुख है यह चिकन के कारीगरों और बाजार के लिए प्रसिद्द है | यह इलाका चिकन के दूकान और मिठाइयों की दुकानों के कारण मशहूर है |

यदि आपके पास लखनऊ शहर पर निबंध से संबंधित कोई अन्य प्रश्न हैं, तो आप नीचे टिप्पणी करके अपनी क्वेरी पूछ सकते हैं।

Updated: March 5, 2020 — 10:54 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *