दुर्गा पूजा पर निबंध – पढ़े यहाँ Essay On Durga Puja In Hindi

प्रस्तावना:

हमारी भारतभूमि यह त्योहारों की भूमि हैं | इस भूमि पर अन्य जाती और धर्मों के लोग रहते हैं | सभी लोग हर एक त्यौहार को रीती – रिवाज और परंपरा के अनुसार मानते हैं |

भारत देश के सभी त्योहारों में से दुर्गा पूजा यह एक धार्मिक त्यौहार हैं | दुर्गा पूजा हिन्दू धर्म का महत्वपूर्ण त्यौहार हैं | यह त्यौहार १० दिनों तक मनाया जाता हैं |

दुर्गा पूजा कब मनाई जाती हैं –

यह त्यौहार हिन्दू कैलेंडर के अनुसार अश्विन माह में आता हैं | दुर्गा पूजा यह त्यौहार बड़े धूमधाम से मनाया जाता हैं | सभी लोग बहुत ख़ुशी और उत्साह के साथ मानते हैं | दुर्गा पूजा इस त्यौहार का सबसे ज्यादा महत्व हैं |

दुर्गा पूजा का महत्व

दुर्गा पूजा यह हिन्दू धर्म का सबसे महत्वपूर्ण त्यौहार हैं | इस त्यौहार का धार्मिक, सांस्कृतिक और सांसरिक महत्व हैं | यह त्यौहार नौ दिनों तक मनाया जाता हैं | इस त्यौहार में माँ दुर्गा के अन्र्क रूपों की पूजा की जाती हैं |

यह त्यौहार परंपरा, लोगों का विश्वास के साथ मनाया जाता हैं | कुछ लोग पांच दिन, सात दिन और नौ दिनों तक मनाते हैं | इस त्यौहार का सबसे ज्यादा महत्व हैं | माँ दुर्गा ने नौ दिन और नौ रातों की लम्बी लड़ाई करने के बाद एक राक्षस पर विजय प्राप्त किया था |

दुर्गा पूजा का उत्सव

दुर्गा पूजा शुरू होने से दो महीने पहले तैयारी शुरू की जाती हैं | मूर्तिकार तीन – चार महीने से पहले ही मूर्ति बनाना शुरू कर देते हैं | बाजार और दुकाने सजने लगती हैं | देवी दुर्गा के मूर्ति में उनके दस हाथ दिखाए जाते हैं और वाहन सिंह होता हैं |

दुष्टों का संहार करने के लिए माँ दुर्गा दस तरह के हथियार रखती हैं | दुर्गा पूजा यह त्यौहार बुरे पर अछे के जीत के रूप में मनाया जाता हैं |

दुर्गा पूजा

इस त्यौहार में माँ दुर्गा की नौ दिनों तक पूजा की जाती हैं | इस दिन बहुत सारे भक्तजन नौ दिनों तक व्रत रखते हैं | कई महिलाएं अपने घर पर नौ लड़कियों को बुलाकर उनकी पूजा करती  हैं |

इस त्यौहार का दसवा दिन विजयादशमी के रूप में मनाया जाता हैं | इस दिन देवी दुर्गा ने महिषासुर नामक के राक्षस पर विजय प्राप्त किया था |

गरबा और डांडिया

इस त्यौहार में नौ दिनों तक गरबा और डांडिया खेला जाता हैं | नवरात्र में गरबा और डांडिया खेलना शुभ माना जाता हैं |

कई जगह पर विवाहित महिला माँ के पंडाल में सिंदूर के साथ खेलती हैं | गरबा की तैयारी कई दिनों से पहले ही शुरू हो जाती हैं और प्रतियोगिता भी रखी जाती हैं |

निष्कर्ष:

दुर्गा पूजा का त्यौहार बुराई पर अच्छाई के जीत में मनाया जाता हैं | यह त्यौहार अत्याचार और बुरी शक्तियों के नाश का प्रतीक के रूप में मनाया जाता हैं | यह एक ऐसा त्यौहार हैं, जो हमारे जीवन में उर्जा और उत्साह संचारता हैं |

Updated: May 22, 2019 — 9:38 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *