स्वच्छता पर निबंध – पढ़े यहाँ Essay On Cleanliness In Hindi Wikipedia

प्रस्तावना:

स्वच्छता यह मानव जाती का आवश्यक गुण हैं | स्वच्छता विभिन्न प्रकार की बिमारियों को दूर करने का सबसे अच्छा उपाय हैं |

स्वच्छता यह किसी के दबाव में आकर नहीं करना चाहिए | यह एक अच्छी आदत और स्वस्थ तरीका हैं, जो हमारे जीवन के लिए महत्वपूर्ण हैं | स्वच्छता हमारे जीवन की आधारशिला होती हैं |

स्वच्छता यह मनुष्य के विकास के लिए मदद करती हैं और मन को शांत रखने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं |

स्वच्छता का अर्थ –

स्वच्छता का अर्थ होता हैं, हमारे तन, मन और आसपास के सभी चीजों को साफ रखना |

स्वच्छता का महत्व

स्वच्छता मानसिक, शारीरिक, बौद्धिक और सामाजिक तरीके से स्वस्थ रहने के लिए बहुत जरुरी होती हैं |

महात्मा गांधी ने कहा था कि, स्वस्थ और निरोगी रहने के लिए आसपास के वातावरण को साफ रखना आवश्यक हैं, क्यों की गंदगी रखने से कई प्रकार की बीमारी होती हैं और मानव विकास में बाधा निर्माण करती हैं |

स्वच्छता यह मनुष्य को खुद करनी चाहिए | हमारी भारतीय संस्कृति में ऐसा माना गया हैं की, जहाँ पर स्वच्छता होती हैं वहां पर लक्ष्मी का निवास होता हैं |

स्वच्छता की आवश्यकता

स्वच्छता रखना यह एक अच्छी आदत हैं | मनुष्य स्वच्छता यह सिर्फ अपने घर की नहीं करनी चाहिए बल्कि अपने आसपास की जगह को भी साफ – सुथरा रखना चाहिए | अगर मनुष्य साफ – सफाई नहीं रखेगा सांप, मक्खी, मच्छर और अन्य पारकर के कीड़े – मकोड़े घर में प्रवेश  करेंगे | बहुत सारे लोग कहते हैं की, स्वच्छता रखना यह सरकारी एजंसियों का काम हैं |

इसलिए वो लोग खुद साफ – सफाई न करके सारी जिम्मेदारी सरकार के ऊपर छोड़ देते हैं | जिसकी वजह से चारों तरफ गंदगी फ़ैल जाती हैं और अन्य प्रकार की बीमारी पैदा होती है |

अस्वच्छता से हानियाँ

कई लोग ऐसी जगह पर रहते हैं जहाँ पर कूड़ा – कचरा फेका होता हैं | नदी – नालियों में गंदा जल और सड़ी हुई वस्तुएं पड़ी रहती हैं | जिसकी वजह से उस क्षेत्र में बहुत गंदगी उत्पन्न हो जाती हैं |

वहा से लोगों को निकलना बहुत मुश्किल हो जाता हैं | वहा की गंदगी की वजह से जल, वायु, थल इन पर विपरीत परिणाम होता हैं | अस्वच्छता रखने से मनुष्य को बहोत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ता हैं |

स्वच्छ भारत अभियान

हमारे भारत देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने भारत देश को एक स्वच्छ और स्वस्थ राष्ट्र बनाने के लिए महात्मा गाँधी जयंती २ अक्टूबर, २०१४ को स्वच्छ भारत अभियान की शुरुवात की |

उन्होंने इस अभियान की शुरुआत इसलिए की, सभी लोगों को स्वच्छता का महत्व समझ सके और इसके प्रति सभी लोगों में जागरूकता फ़ैल सके | इस अभियान के तहत ज्यादा से ज्यादा शौचालयों का निर्माण किया गया |

निष्कर्ष:

सरकार को सभी लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करना चाहिए | हमारे देश में स्वच्छता रखना यह केवल सरकार का ही काम नहीं हैं बल्कि हर एक नागरिक का कर्तव्य हैं | देश और समाज के सभी लोगों को अपने आसपास की सफाई में अपना योगदान देना चाहिए |

Updated: June 17, 2019 — 12:15 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *